Times Bull
News in Hindi

रिश्तों में नहीं आएगी दरार, इन छोटी-छोटी बातों का रखें ख्याल

हर रिश्ता विश्वास की डोर के साथ बंधा होता है, ऎसे में जब भी आपके जीवनसाथी को ऎसा महसूस होने लगता है कि आप उनके साथ बेवफाई कर रहे हैं, तो रिश्तों में धीरे-धीरे कड़वाहट घुलने लगती है और इसका अंत तलाक तक पहुंच जाता है। इसी वजह से पार्टनर की बेवफाई को तलाक का सबसे बड़ा कारण माना जाता है।

आज के दौर में ऑन लाइन एक दूसरे से बातें करना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन जब ये जरूरत से ज्यादा होने लगे, तो यह आपके रिश्ते के लिए खतरनाक हो सकता है। कई बार हम अपने ऑन लाइन दोस्तों से कई निजी बाते शेयर करने लगते हैं, आप समझते हैं कि इसस आपके रिश्तों पर फर्क नहीं पड़ेगा तो यह गलत है। अगर आप किसी से बहुत ही अंतरंग बातें करते हैं तो उसका असर आपके अपने हमसफर के साथ रिश्ते पर पड़ना तय है।

आप कभी एक दूसरे की छोटी सी छोटी बात का भी ख्याल रखते थे, क्या खाया-क्या नहीं, तबियत कैसी है या ऑफिस कैसा रहा, लेकिन अब ये नहीं करते। याद रखें ये छोटी-छोटी बातें हमेशा ही आपके वैवाहिक जीवन को जवां रखती है। एक-दूसरे का ख्याल रखकर ही हम कई छोटी-मोटी समस्याओं को आसानी से हल कर सकते हैं। इससे रिश्तों में हमेशा नयापन और प्यार बना रहता है।

आज भी भागदौड़ भरी जिंदगी में हम इतने परेशान हो जाते हैं कि छोटी-छोटी बातें पर झगड़ने के लिए तैयार हो जाते हैं, लेकिन याद रखें यदि आप बात-बात पर झगड़ने लगते हैं तो आपके रिश्तों में जरूर कुछ गलत होने वाला है। हो सकता है आपकी यही आदत के चलते यह रिश्ता तलाक तक पहुंच जाए। इसलिए रिश्तों में धैर्य होना बहुत जरूरी है।

कई बार जिंदगी ऎसे रंग भी दिखाती है कि जिससे आपने प्यार किया, उससे शादी नहीं हुई। ऎसे में अपने जीवनसाथी से अतीत के राज बताने या छुपाने की जद्दोजहद खडी होती है। इस कशमकश में न पड़ें। बीता हुआ वक्त वापस नहीं आता और अतीत मुर्दे के समान होता है। बेहतरी इसी में है कि गड़े मुर्दे न उखाडे जाएं, वरना अतीत का असर वर्तमान और उससे भी ज्यादा भविष्य को बर्बाद कर सकता है। हो सकता है, आप मानते हों कि अपने साथी से कोई भी राज नहीं छुपाना अच्छा होता है, पर इसका नतीजा आपसी गलतफहमी और रिश्ते की पेचीदगी में इजाफा कर सकता है।

रिश्तों को तोड़ने की शुरूआत गलतफहमी के चलते ही होती है। ये गलतफहमी बहुत सी कड़वाहट को अपने आप में समेटती जाती है। जब एक लम्बा अरसा हो जाता है तब इन रिश्तों में नफरत और क्रोध भी कड़वाहट में आ मिलते हैं, जिसके कारण रिश्ते टूटे कांच की तरह बिखर जाते हैं। हम इन टूटे हुए रिश्तों को फिर से पाना चाहता है, पर हमारा अहंकार ही हमारे सामने पहाड़ बनकर खड़ा हो जाता है। ऎसे में रिश्तों के बीच कभी भी गलतफहमी और अहम को जगह नहीं देना चाहिए।

तलाक का एक और कारण अपने जीवनसाथी से जरूरत से ज्यादा उम्मीदें लगा लेना भी है। कई बार लड़कियां सपनों के राजकुमार वाली कल्पनाओं से बाहर नहीं आ पाती हैं। वो राजकुमार जो उनकी हर इच्छा को पूरा करेगा, अगर आपके साथ भी यही दिक्कत है तो आप संभल जाइए, यहां पर आप गलत हैं। क्योंकि जिंदगी का दूसरा नाम ही संघर्ष है। हो सके तो अपनी उम्मीदें, अपने सपनों को खुद ही पूरा करने की कोशिश करें।

कई बार हम अपने जीवन में कुछ ज्यादा ही रिजर्व हो जाते हैं, अपनी हर बात को अपने ही दिल में दबा कर बैठ जाते हैं, अगर आप ऎसा करते हैं तो यह गलत है। अपनी छोटी सी छोटी बात को भी अपने जीवनसाथी के साथ शेयर करें। क्योंकि तभी वो आपको और आप उनको अच्छी तरह से समझ पाएंगे और जब रिश्तों में समझ पैदा हो जाती है, तो जिंदगी खुशहाल बन जाती है। ये भी ध्यान रखें कि कभी-कभी अच्छा श्रोता बनना भी रिश्तों के लिए अच्छा होता है। इससे आपके बीच होने वाली कई लड़ाइयां खुद-ब-खुद गायब हो जाएंगी।

यह जरूरी नहीं है कि आप जैसा सोचते हैं, वैसा ही आपका जीवनसाथी सोचे। दो अलग-अलग लोगों के सोचने का तरीका भी अलग-अलग होता है, ऎसे में दोनों के बीच वैचारिक मतभेद होना बड़ी बात नहीं है। अगर ऎसा है तो यह तलाक की वजह बिल्कुल नहीं होना चाहिए, इसको आप आपसी तालमेल से सुलझा लें। वहीं कई बार परिजनों का बेवजह दखल भी तलाक का कारण बन जाता है। अगर आपको ऎसा लगता है कि उनके कारण रिश्ते में कोई दिक्कत आ रही हो तो उनसे आराम से बात करें, ताकि समस्या बड़ी होने से पहले ही खत्म हो जाए।

कई बार ऎसा भी होता है, जब आपका जीवनसाथी चाहता है कि आप जॉब ना करके उनका घर-परिवार संभाले। ऎसे में यह आपके लिए परीक्षा की घड़ी हो सकती है। इसलिए ऎसे में थोड़ा संयम बरतें। आपको समझदारी से काम लेना होगा। आप पार्टनर को आराम से समझाएं, आपका काम आपके लिए कितना जरूरी है। ध्यान रहे आपको ना अपनी जॉब छोड़नी है ना ही अपना रिश्ता खोना है।

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Related posts

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...