Gold Monetisation Scheme: GMS scheme से उठाये अपने घर में पड़े सोने का फायदा

Must read

लोगों के दिलों की धड़कन मारुति सुजुकी की यह गाड़ी बाजार में लॉन्च, जानिए कीमत और खूबियां

नई दिल्लीः भारत की बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी मारुति सुजुकी ग्राहकों को लुभाने के लिए नए-नए ऑफर्स के साथ गाड़ियों की कॉन्चिंग करती रहती है,...

IND VS ENG: नरेंद्र मोदी स्टेडियम में चला अक्षर पटेल जादू, इतने इंग्लिश खिलाड़ियों को भेजा पवेलियन

नई दिल्लीः अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लैंड और भारत के बीच सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा है। मैच का...

लाल T Shirt पहन इस लड़के ने सपना चौधरी को दी कड़ी टक्कर, 20 साल से कम के युवा जरूर देखें ये वीडियो

हरियाणा डांसर की बात करें तो सबसे सपना चौधरी का ही नाम आता है और आएगा भी क्यों नहीं क्योकि हर किसी की जुबान...

Hyundai IONIQ 5 electric car सिंगल चार्ज में चलेगी 430 km

दक्षिण कोरियाई ऑटो दिग्गज (Hyundai) हुंडई मोटर ने मंगलवार को IONIQ 5 का अनावरण किया, जो अपने स्वयं के इलेक्ट्रिक वाहन (EV) प्लेटफॉर्म के...

Gold Monetisation Scheme: आपके घरों में पड़े सोने पर नए नियमों की संभावना है। सरकार सूत्रों के मुताबिक सोने (Gold) के मुद्रीकरण पर कुछ बड़े बदलाव करने की योजना बना रही है। नए नियमों के तहत, सरकार सभी पीएसयू बैंकों को इस योजना के दायरे में ला सकती है। जीएमएस (गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम) सेवाओं का समर्थन करने के लिए सभी सरकारी बैंकों की कम से कम 50 प्रतिशत शाखाएँ होना अनिवार्य होगा।

Loading...

सरकार ज्वैलर्स को गोल्ड डिपॉजिट से जुड़ी सेवाएं भी दे सकती है। बैंक ज्वैलर्स के जरिए गोल्ड डिपॉजिट ले सकेंगे।

सरकार इस योजना के लाभ के तहत अधिकतम लोगों को लाने का इरादा रखती है।

लोगों को 10 ग्राम तक सोना जमा करने की अनुमति होगी।

इस योजना के तहत, लोगों को ऋण लेने की अनुमति दी जा सकती है। जीएमएस पर ऋण लेना आसान हो जाएगा।
जीएमएस योजना में मानक प्रथाओं को सुनिश्चित करने के लिए सरकार भारतीय मानक वितरण द्वारा मान्यता की अनुमति दे सकती है।

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और पंजाब नेशनल बैंक (PNB) सहित कई राज्य संचालित बैंक पहले से ही इस सेवा की पेशकश कर रहे हैं।

गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम क्या है?

जबकि गोल्ड मोनेटाइजेशन स्कीम आपके घरों में पड़े अनुपयोगी सोने से कुछ आय अर्जित करने का एक अच्छा तरीका है, आपको इसके बारे में अधिक विस्तार से जानना चाहिए और इसके फायदे भी।

जीएमएस योजना के तहत, किसी को आभूषण, सोने के सिक्के और सोने की छड़ें बैंकों में जमा करने की अनुमति है। इसके एवज में, बैंक प्रति वर्ष सोने के मूल्य के 2.25 प्रतिशत की दर से ब्याज आय की पेशकश कर रहे हैं।

यह औपचारिक प्रणाली में व्यक्तियों के घरों में पड़े सोने को लाने के लिए किया जा रहा है। ऐसा अनुमान है कि लगभग 25,000 टन सोने का भंडार घरों में होता है।

जमाकर्ता इस सोने की डिलीवरी ले सकता है या परिपक्वता अवधि के बाद नकदी का विकल्प भी चुन सकता है। आभूषण को पिघलाने और उसे वापस करने का भी विकल्प है।

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

लोगों के दिलों की धड़कन मारुति सुजुकी की यह गाड़ी बाजार में लॉन्च, जानिए कीमत और खूबियां

नई दिल्लीः भारत की बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी मारुति सुजुकी ग्राहकों को लुभाने के लिए नए-नए ऑफर्स के साथ गाड़ियों की कॉन्चिंग करती रहती है,...

IND VS ENG: नरेंद्र मोदी स्टेडियम में चला अक्षर पटेल जादू, इतने इंग्लिश खिलाड़ियों को भेजा पवेलियन

नई दिल्लीः अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंग्लैंड और भारत के बीच सीरीज का तीसरा टेस्ट मैच खेला जा रहा है। मैच का...

लाल T Shirt पहन इस लड़के ने सपना चौधरी को दी कड़ी टक्कर, 20 साल से कम के युवा जरूर देखें ये वीडियो

हरियाणा डांसर की बात करें तो सबसे सपना चौधरी का ही नाम आता है और आएगा भी क्यों नहीं क्योकि हर किसी की जुबान...

Hyundai IONIQ 5 electric car सिंगल चार्ज में चलेगी 430 km

दक्षिण कोरियाई ऑटो दिग्गज (Hyundai) हुंडई मोटर ने मंगलवार को IONIQ 5 का अनावरण किया, जो अपने स्वयं के इलेक्ट्रिक वाहन (EV) प्लेटफॉर्म के...

meen rashi 25 February 2021: आज का मीन राशिफल, 25 फरवरी राशिनुसार कैसा रहेगा आपका दिन, पढ़ें यहां

मीन राशि - विवाह प्रयास सफल रहेंगे। आजीविका के नए रास्ते खुलेंगे। धनलाभ होगा। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। कीमती वस्तुएं संभालकर रखें। धनागम होगा। दैनिक पंचांग में...
Enable Notifications    OK No thanks