News in Hindi

नई कार खरीदते समय आपसे ये 6 बातें छुपा लेते हैं डीलर्स, यहां जानें

आप जब भी कार लेने के लिए शोरूम पर चढ़ते हैं तो सामने शर्ट टाई पहने एक हैंडसम सा डीलर आपको कारों के फीचर्स बताना शुरू कर दे​ता है। साथ ही साथ वह आपको कार लेने के लिए मोटिवेट भी करना शुरू कर देता है, लेकिन ऐसी बहुत सी बातें हैं जो डीलर्स आपसे छुपा लेते हैं। यहां हम आपको वह 6 राज बताने जा रहे हैं—
1. यह बहुत से लोगों के साथ होता है खासकर फेस्टिव ​सीजन के दौरान। यह ऐसा वक्त होता है जब शोरूम्स पर काफी भीड़ होती है। ऐसे में ज्यादातर लोग प्री—डिलिवरी इंस्पेक्शन करने से चूक जाते हैं। प्री—डिलिवरी इंस्पेक्शन इसलिए जरूरी होता है ताकि कार लेरे से पहले किसी भी तरह की खराबी हो तो वह पता चल जाए। अगर आप ​डिमांड नहीं करते हैं तो ज्यादातर डीलर्स इसके लिए ग्राहक को कहते भी नहीं हैं।
2. कार्स पर केवल वही डिस्काउंट नहीं होते जिनके बारे में एडवर्टीमेंट में या फोन पर मैसेज के जरिए बताया जाता है। कार डीलर्स की ओर से कई स्तर पर और पुराने वेरिएंट या पुराने मॉडल पर डिस्काउंट दिए जाते हैं। खासतौर पर साल के अंत में या वित्तीय वर्ष के पहले क्वार्टर में ज्यादा डिस्काउंट आॅफर किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कंपनियों और डीलर्स को पुराना स्टॉक क्लीयर करना होता है। ऐसे समय पर कार लेने जाते हैं तो आप यह डिस्काउंट मांग सकते हैं।
3. कार का व्हीकल आइडेंटिफिकेशन नंबर को चेक करना न भूलें, क्योंकि इसमें कार की मैन्युफैक्चरिंग ईयर के बारे में ​डीटेल होती है। VIN आमतौर पर इंजन-बे में पाया जाता है।
4. पेपरवर्क में किसी तरह की जल्दबाजी न करें। हमें पता है आप कार ले रहे हैं और काफी एक्साइटेड हैं, लेकिन इस एक्साइटमेंट के चक्कर में जरूरी डॉक्यूमेंट्स न भूलें। अपने डॉक्स जैसे वैट इनवॉयस, रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट या टेम्परेरी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट को दोबारा जांच लें।
साथ ही यह भी जांच लें कि आपका नाम, इंजन नंबर, चेसी नंबर और व्हीकल नंबर सही लिखा है या नहीं। इसके अलावा इंश्योरेंस सर्टिफिकेट, आॅरिजनल पीयूसी सर्टिफिकेट, यूजर मैनुअल और बैटरी, स्टीरियो और टायर्स के लिए आॅरिजनल वॉरंटी कार्ड्स मांगना न भूलें।
5. आमतौर पर नई कार के साथ कई एक्सेसरीज आती हैं। ऐसे में यह मान कर न चलें कि यह सब अच्छी कंडीशन में ही होंगी। म्युजिक सिस्टम अहम एक्सेसरी है, इसे जरूर चेक कर लें कि यूएसबी डिवाइस, आॅक्स वायर और सीडी सही ढंग से काम कर रहे हैं या नहीं। इसके अलावा, सेंट्रल लॉक, पार्किंग सेंसर्स और कैमरा आदि भी जांच लें।
6. फ्री कार कवर के अलाव भी बहुत सी चीजें ध्यान देने लायक हैं। आप डीलर्स से इंजन आॅयल और कूलेंट लेवल को दिखाने के लिए कहें। अगर लेवल कम है तो आपकी कार खराब हो सकती है। टूल्स भी चेक करना न भूलें, बैटरी भी चेक करें और सुनिश्चित करें कि वह अच्छी कंडीशन में है। वॉरंटी कार्ड के लिए भी पूछें।