Times Bull
News in Hindi

ये किस्सा सुन कर Sehwag और Nehra की दोस्ती की मिसाल देंगे आप

टीम इंडिया की ओपनर जोड़ी रहे वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर की दोस्ती के बारे में तो सब जानते हैं, लेकिन सहवाग की दोस्ती आशीष नेहरा से और भी गहरी रही है। वर्ष 2009 में एक बार सहवाग ने नेहरा के साथ अपनी दोस्ती के बारे में बात की थी।

सहवाग ने बताया, ‘मैं और गौती (गौतम गंभीर) बहुत अच्छे दोस्त हैं, लेकिन मेरी और नेहरा की दोस्ती बहुत पुरानी है। मुझे आज भी याद है जब हम दोनों एक साथ एक स्कूटर पर बैठकर प्रेक्टिस के लिए जाया करते थे। दोनों में से कोई एक स्कूटर चलाता था और दूसरा किट बैग लेकर पीछे बैठता था। नेहरा का बैग बहुत छोटा होता था, लेकिन मेरा किट हमेशा बड़ा और भारी होता था। वह स्कूटर हमारी दोस्ती में बहुत खास है।’ इस पर नेहरा ने कहा था, ‘वीरू तो यारों का यार है।’

वर्ष 2012 में जब सहवाग रणजी ट्रॉफी में खेलने की तैयारी कर रहे थे, तब उन्होंने वह पुरानी यादें फिर ताजा कीं। वे अपनी ऑडी ए7 कार चलाकर फिरोजशाह कोटला पहुंचे और बोले, ‘मुझे नेहरा को पिक करना था’। सहवाग ने बताया, ‘हम पहले एक साथ बस नंबर 783 पकड़ा करते थे, या फिर मैं अपने स्कूटर पर नेहरा को पिक करने जाता था, ताकि हम कोटला मैदान में प्रेक्टिस करने जा सकें।

सालों बाद भी वही रुटीन अपनाना अच्छा लग रहा है, बस अब फासले कम हो गए हैं। पहले स्कूटर हुआ करता था, अब कार है।’ इतने में पीछे की सीट पर बैठे नेहरा ने हंसते हुए कहा, ‘वो दिन यादगार हैं। स्कूटर से कार तक का सफर, बस ड्राइवर वही है।

Loading...