सीबीएसई 12वीं के परिणामों में लड़कियों ने लड़कों को पछाड़ा

Girls outnumbered boys in CBSE 12th results

 केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने गुरुवार को इंटरमीडिएट परीक्षा परिणामों की घोषणा की। हंसिका शुक्ला और करिश्मा अरोड़ा को संयुक्त रूप से 12वीं कक्षा का टॉपर घोषित किया। कुल पास प्रतिशत 83.4 फीसद रहा।

दिल्ली पब्लिक स्कूल, गाजियाबाद की हंसिका शुक्ला और एस. डी पब्लिक स्कूल, मुजफ्फरनगर की करिश्मा अरोड़ा ने लड़कों को नौ प्रतिशत से पछाड़ा।

दोनों लड़कियों ने 500 में से 499 अंक प्राप्त किए हैं।

पहले स्थान पर त्रिवेंद्रम क्षेत्र रहा जहां पास प्रतिशत सबसे अधिक 98.2 फीसद रहा। वहीं चेन्नई रीजन ने 92.93 फीसद के साथ दूसरा स्थान हासिल किया, जबकि दिल्ली 91.87 फीसद पास प्रतिशत के साथ तीसरे स्थान पर रहा।

लड़कों का पास प्रतिशत 79.40 रहा, जबकि लड़कियों के लिए यह 88.7 और ट्रांसजेंडर वर्ग के लिए यह 83.33 रहा।

विशेष आवश्यकता वाले बच्चों का उत्तीर्ण प्रतिशत 90.25 प्रतिशत रहा।

2018 में पास प्रतिशत 83.01 था जबकि 2019 में यह 83.4 प्रतिशत रहा, इसमें 0.39 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

देश भर से कुल 12,05,484 छात्रों ने परीक्षा दी और जिनमें से 10,05,427 छात्र सफल घोषित किए गए।