News in Hindi

ये संकेत बताते हैं कि अब आपसे ऊब चुकी है आपकी बीवी

हमारे देश में पति पत्नी का रिश्ता जन्मों का माना जाता है। हालांकि यह भी ह्यूमन नेचर है कि इंसान लंबे समय तक एक इंसान के साथ रहने पर जहां एक तरफ उसका आदी हो जाता है, वहीं दसरी तरफ नयापन न होने की वजह से ऊब भी जाता है। ऊब जाने के दो तरीके हो सकते हैं, एक तो यह कि आपकी पत्नी के दिल से आपके लिए प्यार ही खत्म हो गया है और वो केवल यह रिश्ता निभा रही हैं, या फिर वो आपसे बोर होने लगी हैं और चाहती हैं कि आप रिश्ते को फिर से तरो ताजा करने के लिए कुछ करें।

हालांकि आपकी पत्नी के बिहेवियर में आए कुछ बदलावों से ही आप यह अंदाजा लगा सकते हैं कि अब समय आ गया है कि इस रिश्ते की जिम्मेदारी आप संभालें और इसमें जान फूंकें। समय पर ही इन संकेतों को समझ लेना और समय रहते एक्शन ले लेने से रिश्ता बचाया जा सकता है, वहीं अगर इन संकेतों को नजरअंदाज किया जाए तो बात बिगड़ भी सकती है। यहां पढ़ें वो संकेत जिससे पता चलता है कि आपकी पत्नी को अब आप में रुचि नहीं रही –

बात न करना

किसी भी रिश्ते को हैल्दी रखने के लिए कम्यूनिकेशन बहुत जरूरी है। पति पत्नी लगभग हर मुद्दे पर आपस में बात करते हैं और एक दूसरे को समझते हैं, लेकिन अगर आपकी पत्नी आपसे दिल खोलकर अब बात नहीं करती, या फिर उनकी बात के टॉपिक केवल बच्चे या किराने के सामान की लिस्ट तक ही सीमित होते हैं, तो यह इशारा है। इस तरह की स्थिति में आपको उनसे बात करनी चाहिए और उन्हें यह महसूस करवाना चाहिए कि आप अभी भी उनसे प्यार करते हैं।

व्यस्त रहना

अगर वे अक्सर खुद में ही डूबी रहती हैं, या खुद को व्यस्त रखती हैं तो आपको सचेत हो जाना चाहिए। पार्टनर्स एक दूसरे का ख्याल रखते हैं, अगर वो केवल अपने आप में ही मस्त और व्यस्त रहती हैं, तो इसका मतलब है कि आपके रिश्ते में प्यार की कमी आ गई है।

अपमानित करना

क्या आपकी पत्नी अब आपको बात बात पर अपमानित करने लगी है। प्यार एक दूसरे के प्रति सम्मान लाता है, लेकिन अगर आपके रिश्ते में सम्मान की जगह धीरे धीरे अपमान या अपशब्द ले रहे हैं, तो समझ लीजिए कि यह खतरे की घंटी है।

आपसे नहीं लेती सलाह

इंडिपेंडेंट होना अच्छी बात है, लेकिन पती पत्नि दो जिस्म एक जान होते हैं। अगर आपकी पत्नी आपको अपनी किसी भी योजना में शामिल नहीं करती है या आपको नजरअंदाज करती है, तो आपको उनके साथ समय बिताना शुरू करना चाहिए।

 

लापरवाह होना

क्या आपकी पत्नी आपकी या आपसे जुड़ी चीजों की अब परवाह नहीं करती, अगर ऐसा है तो मतलब आपके रिश्ते में प्यार नहीं बचा है। आपको अपने रिश्ते को संभालने के लिए केवल पत्नी के साथ कहीं वेकेशन पर जाना चाहिए।

केवल खासमौकों पर प्यार का इजहार

कहते हैं कि हर घड़ी अपने प्यार का इजहार करते रहना जरूरी नहीं होता, लेकिन अगर हर दिन प्यार का इजहार करते रहने से रिश्ते का ताजापन बना रहे तो इसमें हर्ज ही क्या है। अगर आपकी पत्नी केवल जन्मदिन या शादी की वर्षगांठ आदि मौकों पर ही प्यार के दो शब्द कहती हैं, तो आपको समझ जाना चाहिए कि आपको अपने रिश्ते को संभालने की जरूरत है।