News in Hindi

तो क्या अब बेंगाल टाइगर की जगह गाय हो जाएगी हमारा राष्ट्र पशु

राजस्थान हाई कोर्ट ने बुधवार को ही केंद्र को यह सिफारिश भेजी है कि गाय को भारत का नेशनल एनिमल घोषित किया जाए। इसके अलावा कोर्ट ने यह भी सुझाव दिया है कि गौहत्या के दोषी को फांसी की सजा सुनाई जानी चाहिए। वर्तमान में यह सजा अधिकतम तीन वर्ष जेल है। जज महेश चंद्र शर्मा ने यह सिफारिशें हिंगोनिया गौशाला मामले की सुनवाई के दौरान कीं।

हिंगोनिया गौशाला राजस्थान सरकार की ओर से चलाई जाने वाली गौशाला है। यह जयपुर में स्थित है और यहां पिछले साल के अंतिम कुछ हफ्तों में सौ से ज्यादा गायों की हत्या हो चुकी है। यह पेटिशन तब लगाई गई जब देशभर के कई राज्य, सरकार के गौ हत्या पर प्रतिबंध लगाने के निर्णय की खिलाफत कर रहे हैं।

 

 

हिंगोनिया गौशाला में करीब 8000 गाय हैं और इनकी देखभाल 14 डॉक्टर्स, 24 लाइवस्टॉक असिस्टेंट और करीब 200 अन्य लोगों का स्टाफ करता है। रिपोर्ट्स बताती हैं कि यहां हुई गायों की मौत का कारण गाय के लिए लगे हुए शेड की मेनटेनेंस में की गई लापरवाही है। हाई कोर्ट ने हर तीन महीने में गाय के लिए लगे हुए शेड की रिपोर्ट देने के लिए कहा है और यूडीएच सचिव व म्यूनिसिपल कमिश्नर को हर महीने गौशाला का दौरा करने के भी निर्देश दिए हैं।