Times Bull
News in Hindi

ऐसे हैं Dhoni, गेंदबाजों को दे देते हैं विमान में अपनी बिजनेस क्लास सीट

लिमिटेड ओवर्स में टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ऐसी शख्सीयत हैं कि चाहे उन्हें पसंद करें या उनकी आलोचना करें, लेकिन उन्हें नजरअंदाज करना नामुमकिन है। उनके ऑनफील्ड कूल टेम्प्रामेंट की बातें तो अब आम हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि एमएस ऑफ फील्ड कैसे हैं। यहां एक किस्से से आपको इसकी झलक मिल सकती है।
यह किस्से विश्व कप 2015 के हैं। इसके लिए टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया और न्यूजलैंड में मैच खेल रही थी। दन दोनों ही देशों में इंटरनल फ्लाइट्स में ज्यादा लोगों को बिजनेस क्लास सीट नहीं दी जाती। धोनी को टीम इंडिया के कप्तान होने के नाते जब भी फ्लाइट्स में बिजनेस क्लास सीट मिलती तो वे इसे अपने तेज गेंदबाज के साथ बदल लेते।
धोनी ऐसा इसलिए करते थे, ताकि टीम के तेज गेंदबाज आरामदायक सफर कर सकें और अपने पैरों को आराम दे सकें। इसका फायदा ये होता था कि पहले 15 ओवर्स में धोनी को स्पिनर्स उतारने की जरूरत नहीं पड़ती थी। विश्व कप के इन मैचेस के दौरान केवल एक बार धोनी ने रविचंद्रन अश्विन से पहले गेंदबाजी करवाई थी, क्योंकि पर्थ के ग्राउंड के लिए वे ज्यादा सूटेबल गेंदबाज थे। आपको याद हो तो सेमीफाइनल्स में ऑस्ट्रेलिया से हार कर इस सीरीज से बाहर होने से पहले तक टीम इंडिया ने हर मैच में पूरे 10 विकेट चटके थे।
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.