News in Hindi

रोजाना चाय पीने से आपको कभी नहीं होगी ये बीमारी

भारत में ज्यादातर लोग चाय पीना पसंद करते हैं, वहीं कुछ लोग तो ऐसे भी हैं जिन्हें दिन में कई बार चाय पीना पसंद होता है। हाल ही एक स्टडी में यह बात सामने आई है कि रोजाना एक कप चाय पीने से आप कभी पागलपन(dementia) के शिकार नहीं होंगे। खासकर जिन लोगों में जेनेटिकली यह बीमारी आने के चांसेस होते हैं उनके लिए भी चाय काफी फायदेमंद है।

चीन के 957 लोग जिनकी उम्र 55 वर्ष या उससे ज्यादा थी, उन पर यह शोध किया गया और पाया गया कि रोजाना चाय पीने से इस उम्र में पागलपन की बीमारी होने के चांस 50 फीसदी तक कम हो जाते हैं। वहीं जिन लोगों को जेनेटिकली अल्जाइमर्स होने की संभावना है उनमें भी यह बीमारी के होने की संभावना 86 प्रतिशत से कम हो सकती है।

यह रिसर्च नेशनल यूनिवर्सिटी आॅफ सिंगापोर में की गई और पाया गया कि चाय का यह असर किसी एक तरह की चाय से नहीं है। यह असर चाय की पत्ती से होता है फिर चाहे वह हरी हो, काली हो या कोई और। इस रिसर्च के हिस्सा लेने वाले असिस्टेंट प्रोफेसर फेंग ली ने बताया कि वैसे तो यह शोध चीनी बुजुर्गों पर किया गया है, लेकिन यह सब पर लागू होता है।

रिसर्चर्स ने बताया कि लंबे समय से चाय पीने से चाय प​त्ती में मौजूद बायोएक्टिव कंपाउंड जैसे कि कैटेचिंस, थीफलेविंस, थियरुबिगिंस और एल थिनाइन का फायदा मिलता है जिससे बुढ़ापे में होने वाली गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है। इन कंपाउंड्स में एंटी—इंफ्लेमेट्री, एंटी—आॅक्सीडेंट्स पोटेंशियल और अन्य बायोएक्टिव प्रोपर्टीज जोती हैं, जिने दिमाग को वस्कुलर डैमेज और न्यूरोडिजेनरेशन से बचाया जा सकता है।