प्रकाश झा की फिल्म लि​पस्टिक अंडर माय बुर्का को सेंसर बोर्ड ने इसलिए नहीं दिया सर्टिफिकेट

फिल्म लि​पस्टिक अंडर माय बुर्का को सेंसर बोर्ड ने नकार दिया है। इस बात से फिल्म के प्रोड्यूसर प्रकाश झा काफी दुखी हैं।  कुछ समय पहले फिल्म लिपस्टिक अंडर माई बुर्का का काफी बोल्ड ट्रेलर रिलीज हुआ था। इस फिल्म को सेंसर बोर्ड ने अपमानजनक शब्दों और आपत्तिजनक सीन्स की वजह से प्रमाणित करने से इंकार कर दिया है।

बोर्ड ने फिल्म के प्रोड्यूसर प्रकाश झा से कहा कि वो इस फिल्म को सर्टिफिकेट इसलिए नहीं दे सकते क्योंकि इसकी कहानी नारीवादी, जिंदगी से बढ़कर उनकी फैंटसी के बारे में है। इस फिल्म को 1(a), 2(vii), 2(ix), 2(x), 2(xi), 2(xii) and 3(i) गाइडलाइन के तहत नकारा गया है।

इस फिल्म में कोंकणा सेन शर्मा, रत्ना पाठक, आहाना कुमरा और प्लाबिता बोरठाकुर मुख्य भूमिकाओं में हैं। सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन (सीबीएफसी) के चेयरमैन पहलाज निहलानी ने कहा कि फिल्म को सर्टिफिकेट न देने का निर्णय सर्वसम्मती से लिया गया है।

उधर फिल्म के प्रोड्यूसर प्रकाश झा ने मीडिया से कहा कि हमारे देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है, लेकिन सीबीएफसी के फिल्म को सर्टिफिकेट न देने की वजह से अरामदायक कहानी न दिखाने वाले फिल्मकार हतोत्साहित होते हैं। वहीं फिल्म की निर्देशक अलंकृता श्रीवास्तव ने इस फैसले को महिलाओं के अधिकार पर हमला करार दिया है।

यहां देखें लिपस्टिक अंडर माई बुर्का का ट्रेलर –

आपको बता दें इस फिल्म में छोटे शहर की अलग अलग उम्र की चार महिलाओं की जिंदगी को दिखाया गया है, जिसमें वे कई तरह की आजादी की तलाश करती हैं। अब निर्माता रिवाइजिंग कमिटी के आधिकारिक पत्र का इंतजार कर रही है। जिसके बाद वो फिल्म सर्टिफिकेशन एपीलेट ट्रिब्यूनल को पहल करेंगे, जिससे कि सर्टिफिकेट मिल सके और फिल्म को रिलीज किया जा सके।

Leave A Reply

Your email address will not be published.