Times Bull
News in Hindi

30 जून की आधी रात से लागू होगा जीएसटी, यहां जानें क्या होगा आप पर असर

GST set for 30 June midnight launch, know here what is GST

एक राष्ट्र एक कर का सपना सच करने वाला 30 जून की आधी रात से लागू किया जाएगा। वित्त मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि GST काउंसिल ने सैकड़ों फैसले लिए हैं। 30 जून को इस पर संसद का विशेष सत्र बुलाया गया है। 30 जून को ही GST आधिकारिक तौर पर लॉन्च किया जाएगा।

राष्ट्रपति करेंगे GST लॉन्च

को लागू करने का कार्यक्रम पार्लियामेंट के सेंट्रल हॉल में होगा। इस कार्यक्रम में सभी राज्यों के वित्तमंत्री शामिल होंगे। रात 12 बजे राष्ट्रपति इसे लॉन्च करेंगे। जेटली ने बताया कि इस दौरान होने वाले कार्यक्रम में सभी मौजूद रहेंगे। इस दौरान दो शॉर्ट फिल्में दिखाई जाएंगी, जिसके जरिए की खूबियों के बारे में बताया जाएगा।

gst
gst

क्या है जीएसटी?

जीएसटी यानी कि गुड्स एंड सर्विस टैक्स ऐसा टैक्स है जो राष्ट्रीय स्तर पर किस भी सामान या सेवा की मैन्युफैक्चरिंग, बिक्री और इस्तेमाल पर लगाया जाना है। इस सिस्टम के लागू होने के बाद चुंगी, सेंट्रल टैक्स, राज्य स्तर के सेल्स टैक्स व वैट, एंट्री टैक्स, लॉटरी टैक्स, स्टैम ड्यूटी, टेलिकॉम लाइसेंस फी, टर्नओवर टैक्स, बिजली के इस्तेमाल या बिक्री पर लगने वाले टैक्स, सोने के ट्रांसपोर्टेशन पर लगने वाले टैक्स आदि खत्म हो जाएंगे। फिर पूरे देश में एक सामाना के लिए एक ही टैक्स होगा। यानी कि अब आप गाड़ी हो या कोई और सामान, किसी भी राज्य से खरीदें आपको एक ही कीमत पर मिलेगा।

वित्त मंत्री की अध्यक्षता वाली ने हाल ही 1200 सामानों और 500 सेवाओं पर जीएसटी की दरें तय की हैं। काउंसिल ने सभी सेवाओं और वस्तुओं को 5, 12, 18, 28 प्रतिशत के टैक्स स्लैब में रखा है।

आपको होगा यह लाभ

— जीएसटी आने से उपभोक्ताओं को लाभ मिलेंगे। उन्हें कई तरह के टैक्स के बोझ से छुटकारा मिलेगा। जहां इसके तहत कुछ प्रोडक्ट्स सस्ते हो जाएंगे, वहीं कुछ की कीमतें बढ़ जाएंगी।
— संविधान के अनुसार केंद्र और राज्य सरकारें अपने ​हिसाीब से वस्तुओं और सेवाओं पर कर लगा सकती हैं।
— कोई कंपनी या कारखाना एक राज्य में अपने उत्पाद बनाकर दूसरे राज्य में बेचता है, तो उसे कई तरह के टैक्स दोनों राज्यों को चुकाने होते हैं। इससे उत्पाद की कीमत बढ़ जाती हैं, लकिन जीएसटी से यह समस्या दूर हो जाएगी।
होने से देश की जीडीपी में एक से पौने दो फीसदी तक की बढ़ोतरी हो सकती है।

Related posts

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...