हमारे देश भारत में सड़कों पर सारा टैफिक बाईं तरफ चलता है, लेकिन दुनिया के ज्यादातर देशों में ट्रैफिक सड़की की दाईं तरफ चलता है। बाई तरफ यानी कि लेफ्ट हैंड साइड चलने का यह रूल कई सदियों पहले के बैल गाड़ी आदि से लिया गया है। आर्कियोलॉजिस्ट्स ने सड़क लेफ्ट साइड पर गहरी लकीरें पाई थीं, जिससे उन्हें लेफ्ट साइड ट्रैफिक के प्रमाण मिले थे।

वहीं एक शोध ये बताया है कि दुनिया भर में 90 प्रतिशत लोग राइट हैंड यानी कि दाएं हाथ से हर काम करते हैं। ऐसा माना जाता है कि पुराने जमाने ेमें लोग घोड़ों पर सड़क के लेफ्ट साइड इसलिए चलते थे ताकि उनका दायां हाथ खाली रहे, जिससे कि वे दुश्मन पर वार कर सकें।

कुछ लोगों का दावा है कि फ्रेंच रिवोल्यूशन के बाद ड्राइवर्स ने राइट साइड पर चलना शुरू कर दिया था। यह उनका कुलीन तंत्र के खिलाफ प्रोटेस्ट करने का तरीका था। रोड के दाएं तरफ चलने का यह नियम यूरोप में तब फैला जब नेपॉलियन और हिटलनर ने अपने नेशनल ड्राइविंग रूल्स अपने सम्राज्य में लागू किए। जबकि अन्य देशों ने देखा देखी इस नियम को अपना लिया।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts