Times Bull
News in Hindi

इस धनतेरस लाएं मां लक्ष्मी की यह पसंदीदा चीज, होगी धनवर्षा

यदि आप अपने घर में या प्रतिष्ठान में लक्ष्मी का वास चाहते हैं तो इस एक वस्तु को जरूर अपने पुजा के स्थान में जगह दें। हम बात कर रहे है शंख की। हिंदू धर्म में इसे बड़ा महत्व दिया जाता है। पंडितों के मुताबिक यह दो तरह के होते है। एक दक्षिणावर्त और दूसरा वामावर्त। इसमें जो दक्षिण की ओर खुलता है उसे तंत्र में साक्षात लक्ष्मी जी का स्वरूप माना गया है। तो आइए आज हम आपको इस शंख के लाभ और इस धनतेरस से पहले आने वाले रवि पुष्प विषेश संयोग के बारे में बताते हैं।

lakshmi-shank-red

शंख से होंगे 8 फायदे

– दिवाली के दिन पूजा करने के बाद इस शंख को तिजोरी में रखने से घर में अक्षय आता है।
-शंख में जल भर कर महालक्ष्मी का पूजन करने से घर में बरकत होती हैै।
-इसे घर में पूजा के स्थान में रखने से हर संकट दूर होता है।
-इसके सामने रोज अगरबत्ती लगाई जाए तो यश व प्रसिद्धि बढ़ती है।
-पूजन के बाद रोजाना इस शंख में दूध भरकर यदि बांझ स्त्री को पिलाया जाए तो उसे संतान सुख मिलता है।
-रोजाना पूजन के समय इसमें जल भर कर रखें और इस जल को पीएं। आप में चमत्कारी आकर्षण पैदा होगा।
-शंख का पूजन इत्र और गुलाल से करें। उसके सामने नैवेध रखें और श्री सुक्त का पाठ करें।
-दिवाली के दिन शंख का पूजन कर श्री सुक्त श्लोकों से आहूति देने पर घर में स्थाई लक्ष्मी का निवास होता है।

maa-lakshmi-photo

रवि पुष्प नक्षत्र 23 को, शुभ संयोग में करें खरीदारी

इस बार धनतेरस से पहले खरीदारी का सर्वश्रेष्ठ अवसर या यूं कहें कि मिनी धनतेरस 23 अक्टूबर को है। इस दिन ग्रह नक्षत्रों का महायोग बनेगा। पंडित आचार्य मधु शर्मा के मुताबिक रवि नक्षत्र, सर्वार्थ सिद्धी व बुधादित्य योग एक साथ होंगे। इस के चलते इसे शुभ संयोग को मिनी धनतेरस का नाम दिया गया है। यह योग 2013 में आया था अब 2026 में आएगा। पुष्य नक्षत्र शनिवार रात्रि 8.27 मिनट से शुरू होकर रविवार शाम 8.38 मिनट तक रहेगा।

कब क्या खरीदें

लाभ- सुबह 9.23 से 10.47 बजे तक, जमीन जायदाद, व्यापार का शुभारंभ
अमृत- सुबह 10.47 से दोपहर 12.11 बजे तक, वाहन, कम्प्यूटर, ज्वैलरी
अभिजीत- दोपहर 11.48 से 12.35 तक, वाहन,घरेलू वस्तुएं, ज्वैलरी
शुभ- दोपहर 1.37 से 2.59 तक, स्वर्णाभूषण, इलेक्ट्राॅनिक वस्तुएं
शुभ- शाम 5.48 से 7.27 तक, प्राॅपर्टी, इलेक्ट्राॅनिक सामान, घरेलू साज-सज्जा की सामग्री

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.