Times Bull
News in Hindi

नारियल से जुडी 10 ख़ास बातें

Facts About Coconut in Hindi – हम सभी जानते हैं पूजन कर्म में नारियल का महत्वपूर्ण स्थान है। किसी भी देवी-देवता की पूजा नारियल के बिना अधूरी मानी जाती है। भगवान को नारियल चढ़ाने से धन संबंधी समस्याएं दूर हो जाती हैं और प्रसाद के रूप में नारियल का सेवन करने से शारीरिक दुर्बलता दूर होती है। यहां जानिए नारियल से जुड़ी 10 खास बातें…

1. नारियल को श्रीफल कहा जाता है। ऐसा माना जाता है, जब भगवान विष्णु ने पृथ्वी पर अवतार लिया तो वे अपने साथ तीन चीजें- लक्ष्मी, नारियल का वृक्ष और कामधेनु लेकर आए थे।

2. नारियल के वृक्ष को कल्पवृक्ष भी कहा जाता है। नारियल में ब्रह्मा, विष्णु और महेश, तीनों ही देवताओं का वास माना गया है।

3. श्रीफल भगवान शिव को भी बहुत प्रिय है। नारियल में बनी तीन आंखों को शिवजी के त्रिनेत्र के रूप में देखा जाता है।

4. श्रीफल शुभ, समृद्धि, सम्मान, उन्नति और सौभाग्य का सूचक है। इसीलिए सम्मान करने के लिए शॉल के साथ श्रीफल भी दिया जाता है। रक्षाबंधन पर बहनें भाइयों को राखी बांध कर नारियल भेंट करती हैं और रक्षा का वचन लेती हैं।

5. स्त्रियों के लिए नारियल फोड़ना वर्जित है। इस संबंध में मान्यता है कि नारियल बीज रूप है, इसलिए इसे उत्पादन (प्रजनन) क्षमता से जोड़ा गया है। स्त्रियां प्रजनन की कारक हैं और इसी वजह से स्त्रियों के लिए बीज रूप नारियल को फोडऩा वर्जित किया गया है।

6. देवी-देवताओं को श्रीफल चढ़ाने के बाद पुरुष ही इसे फोड़ते हैं। नारियल से निकले जल से भगवान की प्रतिमाओं का अभिषेक भी किया जाता है।

7. नारियल की तासीर ठंडी होती है। ताजा नारियल कैलोरी से भरपूर होता है। इसमें अनेक पोषक तत्व होते हैं। जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हैं।

8. आमतौर पर नारियल को बधार कर यानी फोड़कर ही देवी-देवताओं को चढ़ाते हैं। इस संबंध में मान्यता है कि हम नारियल फोड़कर अपनी बुराइयों और अहंकार का त्याग करते हैं।

9. हनुमानजी की प्रतिमा के सामने नारियल अपने सिर पर से 7 बार वार कर फोड़ देना चाहिए। इससे बुरी नजर का असर खत्म होता है।

10. नारियल ऊपर से कठोर किंतु अंदर से नरम और मीठा होता है। हमें भी जीवन में नारियल की तरह बाहर से कठोर और अंदर से नरम व मधुर स्वभाव बनाना चाहिए। नारियल यही सीख हमें देता है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.