Times Bull
News in Hindi

Captain cool के ये स्टेटमेंट्स Dhoni haters को भी आएंगे पसंद

टीम इंडिया के लिमिटेड ओवर्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अपने आलोचकों की बोलती बंद करना बखूबी जानते हैं। यहां पढ़ें उनके कुछ चुनिंदा स्टेटमेंट्स…

डीएल मैथड पर –

सही कहूं तो मुझे ये डकवर्थ-लुईस मैथड ही समझ नहीं आता, मैं केवल अंपायर के निर्णय का इंतजार करता हूं।

शादी से पहले उनके रिलेशनशिप्स पर-

मीडिया मेरी गर्लफ्रेंड हर दो दिन में बदल देती है, प्लीज एक को तो कुछ समय के लिए चलने दिया करें।

एशिया कप 2008 के फाइनल में जब अजंता मेंडिस ने 6 विकेट चटके थे और टीम इंडिया हार गई थी तो अगली बायलेटरल सीरीज की तैयारी पर धोनी ने कहा था –

मैं माहेला जयवर्द्धने से कहूंगा कि वे दो प्रेक्टिस सेशंस के लिए मेंडिस को हमें दे दें।

ऑस्ट्रेलिया में ठंड लग जाने पर-

मैं घर में बैठा टीवी देख रहा था और उसमें भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया सीरीज को लेकर एक एडवर्टीजमेंट आ रहा था, जिसमें कहा जा रहा था कि वहां सर्दी है और यहां गर्मी, इसलिए गर्मी का अहसास करने के लिए तैयार रहें – मैंने इसे कुछ ज्यादा ही सीरियसली ले लिया और एक भी जैकेट पैक नहीं की, यहां आकर ठंड का अहसास हुआ।

टी20 विश्व कप के सेमी फाइनल्स में कोहली के 82 रन  की पारी पर-

कोहली ने बेहद मुश्किल विकेट पर यादगार पारी खेली है, हालांकि उन्हें मुझे पे करना होगा क्योंकि उनके रन्स के लिए मैं भाग रहा था।

टी20 विश्व कप 2016 के सेमीफाइनल में बांग्लादेश को हराने के बाद रिपोर्टर के सवाल पर-

मैं जानता हूं कि आप खुश नहीं हैं कि भारत आज जीत गया है। आपकी टोन और आपके सवाल से यह स्पष्ट हो रहा है कि आप इस जीत से खुश नहीं हैं। देखिए क्रिकेट मैच में किसी तरह की स्क्रिप्ट नहीं होती। अगर आप बाहर बैठ कर यह एनेलाइज नहीं कर रहे हैं कि इस विकेट पर ज्यादा रन क्यों नहीं बन पा रहे हैं, तो आपको यह सवाल पूछने का भी हक नहीं है।

जब पूछा गया कि धवन केवल छोटी टीमों के खिलाफ ही अच्छा क्यों खेलते हैं-

धोनी ने कहा क्योंकि कोई भी टीम इंडियन क्रिकेट टीम से बड़ी नहीं है।

धोनी के सर जडेजा जोक्स –

– जब आप सर जडेजा को एक बॉल पर 2 रन बनाने को देते हैं तो वो एक बॉल बचाते हुए मैच जितवा देते हैं।

– सर जडेजा बाइलेट्रल सीरीज में केवल एक ही टी20 मैच होने से नाराज थे, इसलिए बीसीसीआई ने आईपीएल शुरू किया। सब फैन्स को जडेजा को थैंक्स कहना चाहिए।

– भागवान को यह अहसास हुआ कि रजनी सर(रजनीकांत) अब बूढ़े हो रहे हैं, इसलिए उन्होंने सर रवींद्र जडेजा को बना दिया।

– जब सर जडेजा जीप चलाते हैं तो उनकी जीप एक जगह रुकी रहती है और सड़क चलती है। जब वो बल्लेबाजी करने जाते हैं तो पवेलियन विकेट की तरफ घूम जाता है।

– सर जडेजा कैच लेने के लिए नहीं भागते, बॉल खुद उन्हें ढूंढ कर उनके हाथों में लैंड कर जाती है।

– दोपहर के तीन बजे हैं और हम प्रेक्टिस के लिए जा रहे हैं, लेकिन स्टेडियम खुद आ रहा है ताकि सर जडेजा प्रेक्टिस कर सकें।

– जब सर जडेजा कोई गलती करती हैं तो वह एक अविष्कार होता है और रोजाना जडेजा ऐसे बहुत से अविष्कार करते हैं, सबके पेटेंट पैंडिंग हैं।

Related posts

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.