Times Bull
News in Hindi

Dussehra 2017 : मरते समय रावण ने लक्ष्मण से कही थीं ये तीन बातें, आज भी हैं काम की

दशहरा 2017 : जाने मरते समय रावण ने लक्ष्मण से कोनसी तीन बातें कही थी।

Dussehra 2017 : दशहरा का पर्व अधर्म पर धर्म की विजय का प्रतीक है। पौराणिक मान्यता के अनुसार भगवान राम की पत्नी सीता का रावण ने अपहरण कर लिया था। इसके बाद भगवान राम, लक्ष्मण और हनुमान की वानर सेना ने मां सीता को बचाने के लिए लंका पर चढ़ाई की थी। यह युद्ध कई दिनों तक चला और आखिरकार भगवान राम की जीत हुई। उन्होंने रावण का वध किया।

रावण बहुत ज्ञानी था और उसने कड़ी तपस्या कर भगवान शिव से अमर रहने का वरदान लिया था। हालांकि उसके घमंड ने उसे दैत्य बना दिया था। उसें बढ़ते अत्याचारों के बाद सभी देवता शिवजी के पास पहुंचे। तब जाकर भगवान राम का जन्म हुआ।

ऐसा कहा जाता है कि रावण जैसा विद्वान आज तक दुनिया में पैदा नहीं हुआ। वह महापंडित था। जब रावण की मृत्यु नजदीक थी तो भगवान राम ने भाई लक्ष्मण को रावण से शिक्षा लेने भेजा। लक्ष्मण रावण के पास गए, लेकिन वह कुछ नहीं बोला। लक्ष्मण कुछ समय बाद वापस चले आए।

भगवान राम ने पूछा तो उन्होंने सबकुछ बताया। तब राम ने कहा कि अगर किसी से ज्ञान लेना हो तो उसके चरणों में खड़ा होना चाहिए। लक्ष्मण फिर से रावण के पास गए और इस बार पैरों की तरफ खड़े हुए। तब रावण ने लक्ष्मण को तीन बातें कहीं –

– शुभ कार्य को टालना नहीं चाहिए। जितना जल्दी हो सके शुभ काम कर देना चाहिए। अगर देरी करेंगे तो परेशानी होगी या फिर पछताना पड़ेगा।

– अपने प्रतिद्वंद्वी या शत्रु को कभी छोटा न आंके। कमतर आंकने पर आपको नुकसान उठाना पड़ेगा।

– आखिरी बात यह कि अपना राज किसी को भी मत बताओ। रावण का राज विभीषण जानता था। इसी तरह अगर आप अपने राज बताओगे तो नुकसान उठाना पड़ेगा।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.