क्या सच में दिख रहा है उल्टा चाँद या है सिर्फ अफवाह, जाने सच

कोरोना वायरस के संक्रमण (coronavirus) को फैलने से रोकने के लिए पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन (india lockdown) जारी है। इस दौरन कई तरह की अफवाहों में लोग आ जा रहे हैं और अफरा-तफरी का माहौल हो जा रहा है। ऐसा ही एक अफवाह फैल गई और लोग भागा-दौड़ी करने लगे। दरअसल, रविवार को किसी ने अफवाह फैला दी कि (ulta chand) दोपहर में चांद निकला है और वह उल्टा दिख रहा है।

देखते ही देखते यह बात आग की तरह फैल गई। लोग अफवाह में आकर छत पर पहुंच गए और दोपहर में उल्टे चांद का नजारा लेने का इंतजार करने लगे। अफवाह को रुकता न देख उलेमा आगे आए। उन्होंने लोगों से अपील की कि किसी भी तरह की अफवाह में न आएं। उल्टा चांद नहीं दिख रहा है।

ऐसा नहीं है कि यह अफवाह सिर्फ कानपुर तक ही सीमित रही। बरेली जिले में भी लोग छतों पर उल्टा चांद देखने के लिए पहुंच गए। देखते ही देखते हर घर के छत पर लोग इकट्ठा हो गए। इससे पहले मेरठ में एक अफवाह फैली थी कि अगर आप रात को सोए तो शरीर पत्थर बन जाएगा। इस मामले में पुलिस ने करीब 10 लोगों को हिरासत में लिया था।

बीते 23 मार्च को मेरठ समेत वेस्ट यूपी के तमाम गांवों में लोग रातभर जागते रहे। अफवाह फैली कि कई जगह सोते-सोते लोग पत्थर बन गए हैं। गांव पलट गया है। भूकंप आने वाला है। खबर एक से दूसरे गांव होते हुए पूरे वेस्ट यूपी में फैल गई। बच्चे, महिलाएं और पुरुष चारपाई छोड़कर सड़कों पर आ गए। जो लोग सो रहे थे, उन्हें भी घर वालों ने जगा दिया। अफवाहों को काबू करने के लिए कई जगह पुलिस को सड़क पर उतरना पड़ा।

Related Articles

Back to top button
Close