Times Bull
News in Hindi

अमेरिका में हर हफ्ते 100 से अधिक जान ले रही है ये बीमारी

हमने पिछले महीने अमेरिका में फ्लू के कहर की जानकारी दी थी। वहां हालात अब भी बेहद खराब हैं। दिसंबर के मध्‍य से लोगों हर सप्‍ताह कम से कम 100 लोगों की मौत की खबर देश के अलग-अलग राज्‍यों से आ रही है।43 राज्‍य चपेट में अमेरिका के 43 राज्‍य इस वर्ष एन्‍फ्लूएंजा एच3एन2 का कहर झेल रहे हैं और इसके कारण बच्‍चों की मौत का आंकड़ा भी बहुत बढ़ गया है।

वैसे देश का रोग नियंत्रण केंद्र (सीडीसी) मौत के असल आंकड़े अभी नहीं जारी कर रहा है मगर माना जा रहा है कि तीन साल पहले यानी 2015 में फ्लू से करीब 56 हजार मौतों के आंकड़े से इस साल का आंकड़ा कुछ ही कम रह गया है।टेक्‍सास में 4 हजार से अधिक मौतें अकेले टेक्सास राज्य में 4,000 से ज्यादा लोगों की जान अब तक जा चुकी है। हालांकि कहा जा रहा है कि इस राज्‍य में अब बीमारी का प्रकोप कुछ कम हुआ है जिससे प्रशासन ने राहत की सांस ली है।
वैसे सीडीसी ने 7 अक्‍टूबर से 23 दिसंबर के बीच देश में 759 लोगों की मौत होने का आंकड़ा दिया है मगर बीमारी का असली कहर 23 दिसंबर के बाद ही फैला है और पूरी जनवरी लोगों को इसके कारण परेशानी झेलनी पड़ी है।

वैसे पिछले वर्ष से तुलना की जाए तो समान अवधि में यह आंकड़ा दो गुना हो गया है क्‍योंकि पिछले साल सीडीसी ने इसी अवधि में 322 मौत होने की जानकारी दी है।अब घट रहा है प्रकोप टेक्सास के राज्य स्वास्थ्य सेवा विभाग की प्रेस अधिकारी लारा एंटन ने बताया कि पिछले दो सप्ताह में डॉक्टरों के दौरे कुछ कम हुए हैं। लारा ने कहा, ‘यह सकारात्मक संकेत है लेकिन हम अभी तक इसे लेकर आश्वस्त नहीं हैं कि इसका चलन खत्म हो गया है। यह जानने के लिए अभी हमें और कुछ सप्ताह इंतजार करना होगा।’ उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में इस मौसम में फ्लू से 4,153 लोगों की मौत हुई है। हमें यह सूचना मृत्यु प्रमाणपत्र के आंकड़ों से मिली है। विभाग के अनुसार, टेक्सास में फ्लू से अभी तक छह बच्चों की मौत हुई है। पूरे देश में बच्‍चों की मौत का आंकड़ा 84 बताया गया है। अधिकारियों का कहना है कि जि‍न लोगों ने अभी तक फ्लू का टीका नहीं लगवाया है उन्‍हें अभी भी ये लगवा लेना चाहिए क्‍योंकि इससे कुछ हद तक बीमारी से बचाव हो जाता है।ब्रिटेन में भी मौतें वैसे इस सीजन में ब्रिटेन में भी फ्लू से 149 लोगों की मौत होने की खबर है। देश के पब्‍ल‍िक हेल्‍थ सेवा के आंकड़ों के अनुसार इस बीमारी से 45 सौ लोगों को अस्‍पताल में भर्ती कराना पड़ा है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.