News in Hindi

छोड़ी गूगल की जॉब, एमबीए बेच रहा समोसे, यहां पढ़ें इसका 3 करोड़ का बिजनेस प्लान

गूगल में जॉब लेना युवाओं का सपना होता है। बेशक वजह भी साफ है मोटा सैलेरी पैकेज। हालांकि कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने गूगल जैसी प्रतिष्ठित कंपनियों की जॉब छोड़ स्टार्टअप शुरू किया है। इस युवक ने भी कुछ ऐसा ही किया। एमबीए करने के बाद मुनाफ कपाडिय़ा को गूगल में जॉब मिला था, लेकिन अपने सपने को पूरा करने के लिए उसने गूगल छोड़ दिया।

मुनाफ समोसे बेचता है और नाम है बोहरी किचन। हालांकि यह आम समोसा नहीं है। मुनाफ को फोर्ब्स की लिस्ट में जगह मिली है। वैसे यह बिजनेस कैसे शुरू हुआ और उन्हें प्रेरणा कहां से मिली, इसके बारे में उन्होंने खुल कर बात की।

मां को रखना था बिजी

मुनाफ जब गूगल में जॉब कर रहे थे, पीछे उनकी मां नफीसा काफी समय टीवी पर बिताती थीं। मुनाफ ने बोहरी किचन की नींच अपनी मां को व्यस्त रखने के लिए ही रखी थी। बोहरी समुदाय के कुछ व्यंजन बेहद लजीज होते हैं। इसमें मटन समोसा, नरगिस कबाब, डब्बा गोश्त, कढ़ी चावल आदि शामिल हैं।

मुनाफ ने ऐसे लिया ट्रायल

मुनाए एमबीए थे इसलिए उन्होंने पहले बिजनेस आइडिया का पोटेंशियल परखने का फैसला लिया। उन्होंने ईमेल, फोन कॉल और खुद मिलकर लड़कियों का एक ग्रुप तैयार किया जो उनके घर आने के लिए जारी थीं। इनके फीडबैक के आधार पर ही यह निर्णय होना था कि यह फूड सर्विस शुरू की जाएगी या नहीं।

फिर छोड़ी नौकरी

इस बिजनेस का नाम रखा गया बोहरी किचन। नफीसा सार व्यंजन तैयार करतीं और मुनाफ इसके प्रचार में जुटे थे। फिर वक्त आया जब उन्हें लगा कि उन्हें अपनी गूगल की जॉब छोड़कर बिजनेस पर टाइम देना चाहिए। नफीसा का कीमा समोसा और रान लोगों को काफी पसंद आ रहा है। बीते साल में उनका टर्नओवर 50 लाख का रहा और अगले साल उन्होंने 3 करोड़ का टारगेट रखा है।