Times Bull
News in Hindi

सरकार के खिलाफ हड़ताल पर अड़े सरकारी डॉक्‍टर

एक डॉक्टर के निलंबन और ओपीडी समय बढ़ाने के खिलाफ कल से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू हुआ
केरल के सरकारी डॉक्टर एक डॉक्टर के निलंबन और ओपीडी समय बढ़ाने के खिलाफ कल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। इस हड़ताल की वजह से राज्‍य में मरीजों को अचानक मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। द केरल गवर्नमेंट मेडिकल ऑफिसर्स एसोसिएशन (केजीएमओए ) ने अस्पतालों में ओपीडी समय को सुबह नौ बजे से लेकर शाम छह बजे तक करने के खिलाफ 12 अप्रैल की रात हड़ताल का आह्वान किया था। पहले ओपीडी समय दोपहर तक ही था। इस आह्वान के बाद 13 अप्रैल से सभी डॉक्‍टर हड़ताल पर चले गए। इसके बाद जो मरीज इलाज के लिए सरकारी अस्‍पतालों में पहुंचे उन्‍हें इस हड़ताल के बारे में कोई जानकारी ही नहीं थी।

केजीएमओए की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि सिर्फ इमरजेंसी विभाग हड़ताल के दौरान खुले रहेंगे और अस्पताल में पहले से भर्ती मरीजों का इलाज 18 अप्रैल तक किया जाएगा। बयान में कहा गया है कि हड़ताल के दौरान किसी भी नए मरीज का इलाज नहीं किया जाएगा। सिर्फ आपातकालीन ऑपरेशन ही किए जाएंगे। इस संगठन ने मांग की है कि अस्थायी डॉक्टरों को स्थायी किया जाए। उधर, एक फेसबुक पोस्ट में स्वास्थ्य मंत्री के.के. शैलजा ने कहा कि यह विरोध प्रदर्शन सरकार की ‘अर्द्रम मिशन’ (मरीजों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं देने के लिए शुरू किया गया) को असफल बनाने के लिए शुरू किया गया है। बताया गया है कि सरकार इस दबाव के सामने झुकने के लिए तैयार नहीं है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.