नई दिल्ली : FRP for Sugarcane: 12वीं किस्त (केंद्र सरकार द्वारा 12वीं किस्त) जारी करने से पहले केंद्र सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा दिया है। किसानों की आय बढ़ाने के लिए मोदी सरकार ने गन्ने के दाम में 2.6 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है और अब किसानों को अगले चीनी सीजन में गन्ने पर 15 रुपये प्रति क्विंटल अधिक भुगतान किया जाएगा. इससे गन्ना किसानों की आय बढ़कर उनकी लागत से लगभग दोगुनी हो जाएगी। किसानों की आय बढ़ाने के लिए सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों के केंद्रीय मंत्रिमंडल ने गन्ने का उचित और लाभकारी मूल्य (FRP) 15 रुपये बढ़ाकर 305 रुपये प्रति क्विंटल कर दिया है। यानी अब किसानों के खाते में उनकी लागत से दोगुना पैसा आएगा.

सरकार ने किया बड़ा ऐलान

कैबिनेट में सरकार ने किसानों की आय बढ़ाने के लिए एफआरपी में इजाफा किया है। दरअसल एफआरपी वह कीमत होती है, जिससे कम कीमत पर किसानों को भुगतान नहीं किया जा सकता है। यानी इसके मुताबिक अब किसानों को गन्ने पर 305 रुपये प्रति क्विंटल का गारंटीड मूल्य मिलेगा.

यह कीमत चीनी सत्र 2022-23 (अक्टूबर-सितंबर) के लिए लागू की गई है। उपभोक्ता मंत्रालय ने जानकारी दी है कि 10.25 प्रतिशत से अधिक की एफआरपी वसूली में प्रत्येक 0.1 प्रतिशत की वृद्धि पर 3.05 रुपये प्रति क्विंटल का प्रीमियम भी दिया जाएगा, जबकि वसूली में प्रत्येक 0.1 प्रतिशत की कमी पर एफआरपी में 3.05 रुपये की कमी की जाएगी। इतना ही नहीं सरकार की ओर से कहा गया है कि चीनी मिलों के मामले में रिकवरी रेट 9.5 फीसदी से कम होने पर कोई कटौती नहीं की जाएगी.

खाते में आएगा दोगुना पैसा!

मंत्रालय ने कहा कि चीनी सीजन 2022-23 में गन्ना उत्पादन की लागत 162 रुपये प्रति क्विंटल होने का अनुमान है, जबकि किसानों को 305 रुपये प्रति क्विंटल दिया जाएगा, जो उनकी उत्पादन लागत से 88 प्रतिशत अधिक है.यानी इससे किसानों के खाते में दोगुना पैसा आने लगेगा। चालू चीनी सीजन में गन्ने का भाव 290 रुपये प्रति क्विंटल है। और अब एफआरपी बढ़ने से गन्ना किसानों की आय लगभग दोगुनी हो जाएगी।

आठ साल में एफआरपी 34 फीसदी बढ़ा

किसानों की आय बढ़ाने को लेकर केंद्र सरकार कितनी सजग है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मोदी सरकार ने पिछले आठ साल में गन्ने के गारंटी मूल्य में 34 फीसदी की बढ़ोतरी की है.साथ ही, आगामी चीनी सीजन में मिलों द्वारा लगभग 3,600 लाख टन गन्ने की खरीद की संभावना है। ऐसे में अगले सत्र में किसानों को करीब 1.20 लाख करोड़ रुपये का भुगतान किया जाएगा. यानी किसानों की आय एक बार फिर बढ़ेगी।

किसानों को बंपर लाभ

सरकार ने कहा है कि गन्ने के दाम बढ़ाने के साथ ही हम यह भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि किसानों को उनका भुगतान समय पर हो. आपको बता दें कि सरकार के इस फैसले से देश के 5 करोड़ किसानों को सीधा फायदा होगा. साथ ही चीनी मिलों में काम करने वाले 5 लाख कामगारों को भी इसका फायदा मिलेगा.

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts