Times Bull
News in Hindi

GST : घर में रखा सोना बेचने पर नहीं लगेगा जीएसटी

मोदी सरकार ने घर पर रखे सोने के गहने या पुराने सोने की बिक्री को के दायरे से बाहर रखा है। यानी कि अगर आप घर में रखा पुराना सोना बेचने की सोच रहे हैं, तो घबराएं नहीं, इसे बेचने पर नहीं लगेगा। बुधवार को ही की मास्टरक्लास में कहा गया था कि अगर आप पुराने गहने सर्राफा व्यापारी को बेचते हैं, तो उस पर काटकर भुगतान होगा। इसे रिवर्स चार्ज कहते हैं।

हालांकि ऐसी व्यवस्था में जो लोग जीएसटी के तहत रजिस्टर्ड नहीं है, अगर वो किसी तरह का सामान या सेवा, कीमत के बदले में रजिस्टर्ड व्यवसायी को मुहैया कराते हैं तो उस पर जीएसटी लगाने का अधिकार रजिस्टर्ड पक्ष को होता है। इसे ऐसे समझें। अगर आपके गहने के बदले में 10 हजार रुपए का भुगतान होना है तो व्यापारी 9,700 रुपये का भुगतान करेगा और बाकी 300 रुपये वो सरकारी खजाने में जमा कराएगा। सोना या सोने के गहने पर जीएसटी की दर 3 फीसदी है।

हालांकि वित्त मंत्रालय की मानें तो रिवर्स चार्ज की व्यवस्था में कुछ बातें ध्यान रखें। जो व्यक्ति सोना बेचने आ याया हैद्व क्या वह उसका व्यवसाय करता है या फिर वो व्यक्तिगत स्तर पर किसी कारणवश सोने बेचने आया है। नियमानुसार अगर पुराने गहने बेचना किसी का व्यवसाय है और वो रजिस्टर्ड व्यवसायी के पास सोना बेचने गया तो वहां पर रिवर्स चार्ज की व्यवस्था लागू होगी। मतलब ये कि रजिस्टर्ड व्यवसायी तीन फीसदी की दर से जीएसटी वसूलेगा और उसके बाद की रकम का भुगतान करेगा।

वहीं अगर कई व्यक्तिगत तौर पर कोई गहना बेच रहा है और यह उसका व्यवसाय भी नहीं हैं, तो नियमानुसार ऐसी​​ स्थिति में रिवर्स चार्ज की व्यवस्था लागू नहीं होगी। मतलब ये कि सोने की पूरी-पूरी कीमत मिलेगी। दूसरे शब्दों में कहें तो 10 हजार रुपए कीमत तय होती है तो व्यापारी यहां पूरा-पूरा 10 हजार रुपए का भुगतान करेग़ा।

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Related posts

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...