नई दिल्लीः देश की बड़ी टेलीकॉम कंपनियों ने इन दिनों अपने प्रीपेड प्लान महंगे कर ग्राहकों को बड़ा झटका दिया है। सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनियों में गिने जाने वाली रिलांयस जियो ने भी अपने प्लान महंगे कर दिया है, जिससे यूजर्स की जेब पर बोझ बढ़ गया है। दूसरी ओर देश की सरकारी टेलीकॉम कंपनी अगले साल यूजर्स को बड़ा तोहफा देने जा रही है। बीएसएनएल सितंबर 2022 तक अखिल भारतीय 4जी सेवाएं शुरू करने का ऐलान कर दिया है।

इस सेवा विस्तार से 900 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यह भारत के संचार मंत्री देवुसिंह चौहान थे जिन्होंने संसद को ये आंकड़े दिए थे, साथ ही सरकार द्वारा बीएसएनएल में अपनी बहुमत हिस्सेदारी एक निजी संस्था को बेचने की संभावना के बारे में भी हवा दी थी।

वहीं, बीएसएनएल के लेखापरीक्षित वित्तीय विवरण से पता चलता है कि 30 सितंबर तक, इकाई की कुल संपत्ति 1,33,952 करोड़ रुपये है, और इसकी सहायक एमटीएनएल की कीमत 3,556 करोड़ रुपये है।

संयंत्र, उपकरण और संपत्ति सहित बीएसएनएल की कुल संपत्ति 89,878 करोड़ रुपये है और एमटीएनएल के लिए समान मूल्यांकन 3,252 करोड़ रुपये है। इसके अलावा, बीएसएनएल पर मूल्य के मामले में देनदारियां 85,721 करोड़ रुपये हैं, और एमटीएनएल के लिए यह 30,159 करोड़ रुपये है।

हाल ही में बताया था कि बीएसएनएल ने अखिल भारतीय 4जी लॉन्च के लिए सितंबर 2022 की समयसीमा प्रदान की है। कंपनी ने 4जी सेवाओं के परीक्षण के लिए 5 कंपनियों को आमंत्रित किया। इससे पहले, सरकार ने बीएसएनएल और एमटीएनएल दोनों के लिए एक पुनरुद्धार योजना का प्रस्ताव रखा था जिसमें परिचालन के विस्तार के लिए आवंटित केंद्रीय धन के साथ उन्हें 4 जी सेवाएं आवंटित करना शामिल था।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts