नई दिल्लीः मोदी सरकार ने हाल में पीएम किसान सम्मान निधि से जुड़े किसानों के अकाउंट में 12वीं किस्त के 2,000 रुपये ट्रांसफर किये थे, जिसके बाद लोगों के चेहरे पर काफी उत्साह भी देखने को मिला है। सरकार की जांच में ऐसे तमाम किसान हैं, जो अपात्र होने के बाद भी योजना का लाभ ले रहे हैं। अगर आप भी इन सूची में शामिल हैं तो तुरंत रकम वापस कर दें, जिससे आपको मुसीबतों का सामना नहीं करना पड़ेगा। सरकार से मिली जानकारी के मुताबिक, अब पैसों की रिकवरी का काम शुरू कर दिया गया है, जिससे लाखों किसानों को किस्त की राशि वापस करनी होगी। अगर आपको सरकार के कानूनी शिकंजे से बचना है तो फिर बदलाव किये गए सभी नियमों को जानना जरूरी है, जिससे परेशानियों का सामना ना करना पड़े।

  • जानिए क्या हुए बड़े बदलाव

देशभर के लघु-सीमांत किसानों के अकाउंट में अब तक 2,000 रुपये की 12 किस्त ट्रांसफर हो चुकी है, जिससे करोड़ों लोगों लाभान्वित हुए हैं। अब किसानों को जल्द ही अगली किस्त आने का इंतजार है। सरकार ने किस्त का लाभ लेने के लिए कुछ बड़े बदलाव किये हैं, जिन्हें जानना जरूरी है। अगर आपने नये नियम नहीं जाने तो फिर आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है।

वैसे भी सरकार अब वसूली करने का काम शुरू करेगी। अगर आप सभी नियमों पर फिट नहीं बैठते हैं तो किस्त की राशि ऑनलाइन ही वापस कर दें। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो फिर वसूली के साथ कानूनी कार्रवाई भी होगी। सरकार ने इस योजना में पारदर्शिता लाने के लिए इस योजना के नियमों में बड़ा बदलाव कर दिया है। हाल ही में लाभार्थियों के लिए e-KYC कराने के काम अनिवार्य कर दिया है।

  • इन किसानों से सरकार करने जा रही वसूली

मोदी सरकार द्वारा संचालित पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अनुसार सरकार फर्जी किसानों पर शिकंजा कसना आरंभ कर दिया है। इतना ही नहीं इसके लिए नोटिस भी भेजने शुरू कर दिये हैं। दूसरी ओर कई परिवार ऐसे भी हैं जहां पति-पत्नी दोनों किस्त फायदा ले रहे हैं। नियमानुसार खेत पति और पत्नी दोनों के नाम हों, लेकिन अगर एक ही साथ रहते हैं और परिवार में बच्चे नाबालिग हैं तो केवल एक ही व्यक्ति को इस योजना का फायदा दिया जाएगा।

अगर आपने भी ऐसी कोई गलती की है तो आप स्वेच्छा से गलत तरीके से लिए गए रकम को वापस किया जाएगा। इसके लिए सरकार ने पीएम किसान पोर्टल पर एक फेसिलिटी मुहैया कराई जा रही है।


Latest News