नई दिल्ली: UPI Payment Limit: अगर आप यूपीआई पेमेंट (UPI Payment) को यूज करते हैं तो यह खबर आपके लिए बहुत जरूरी है। दरअसल यूपीआई पेमेंट सिस्टम (UPI Payment System) को लेकर बड़ा बदलाव होने वाला है, जिसका सीधा असर देश के करोड़ों यूजर्स पर पड़ेगा। देखा जाए तो आज के समय हर दूसरा व्यक्ति यूपीआई का इस्तेमाल करता है और इस हिसाब से देखा जाए तो करोड़ों लोगों पर सीधा असर पड़ेगा।

30 फीसदी तक सीमित हो सकता है वॉल्यूम कैप

आपको बता दें कि यूपीआई पेमेंट सर्विस की सुविधा देने वाले सभी ऐप्स हर दिन होने वाले ट्रांजेक्शन पर लिमिट सेट करने जा रहे हैं। इसको लेकर काफी तेजी से तैयारियां चल रही हैं। जानकारी के लिए बता दें कि नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) देश के थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स (TPAP) के वॉल्यूम कैप को 30 फीसदी तक सीमित करने पर काम कर रहा है।

चल रही है आरबीआई से बातचीत

इस मुद्दे को लेकर  रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया से बातचीत की जा रही है। आरबीआई से मंजूरी मिलने के बाद फोन पे, गूगल पे और पेटीएम जैसी कंपनियां यह लिमिट तय करेंगी। इससे ग्राहकों को शुरुआत में थोड़ी परेशानी का समाना करना पड़ सकता है। हालांकि लिमिट कितनी होगी यह अभी तय नहीं हुआ है।

31 दिसंबर तक हो सकता है फैसला

वैसे  एनपीसीआई इस समय सभी तरह के मूल्यांकन कर रहा है। इसके बाद ही लिमिट निर्धारित की जाएगी। रिपोर्ट के अनुसार, 31 दिसंबर तक इस पर निर्णय हो सकता है।

बैंक तय करते हैं हर दिन की लिमिट

बता दें कि बैंक की तरफ से यूपीआई की हर दिन की लिमिट तय होती है। वैसे एसबीआई (SBI) ने इस समय यूपीआई ट्रांजेक्शन की एक दिन की लिमिट को 1 लाख तय कर रखी है। वहीं  प्राइवेट सेक्टर की ICICI Bank ने  10,000 रुपये लिमिट तय कर रखी है। साल 2020 में NPCI ने लेन-देन के हिस्से को कैपिंग करते हुए एक निर्देश जारी किया था कि एक थर्ड पार्टी एप्लीकेशन प्रोवाइडर 1 जनवरी, 2021 से यूपीआई पर लेनदेन की वॉल्यूम का 30 फीसदी पर सेट कर सकता है।


Latest News