नई दिल्ली: Motivational story Of Shyam Babu: अक्सर आपने सुना कि मेहनत करने वालों की हार नहीं होती है। वास्तव में यह सच है। अगर मेहनत और लगन से किसी चीज को पाने की कोशिश की जाए तो वह आखिर तक मिल ही जाती है। अक्सर कई लोग मानते हैं कि ये सिर्फ एक कहानी है और सिर्फ कहने की बात है। पर एक शख्स ने इस बात को शाबित  दिया कि अगर पूरी लगन से किसी चीज को पाने की कोशिश की जाए तो सफलता जरूर मिलती है।

ये भी पढ़ें- Samsung के फोल्ड स्क्रीन के बाद अब Nokia ने लॉन्च किया Waterptoof 5G फोन, देखें कीमत

ये कहानी है बलिया के छोटे से गांव इब्राहिमाबाद निवासी 33 वर्षीय श्यामबाबू की। जिनकी आर्थिक स्थिति बहुत ही ज्यादा कमजोर थी। श्यामबाबू ने दसवीं पास करने के बाद ही सरकारी नौकरी के लिए कोशिश करनी शुरू कर दी थी। वो सफल हुए और यूपी पुलिस के हेड कांस्टेबल पद पर भर्ती हो गए। सिपाही बनने के बाद वो रुके नहीं और अपने लक्ष्य को हासिल करने की ठान ली थी। नौकरी से छुट्टी मिलने के बाद प्राइवेट पढ़ाई जारी रखी।  2010 से उन्होंने पीसीएस परीक्षा देने की ठान ली थी।

Motivational Story Of Shyam Babu

श्यामबाबू ने 2016 में पीसीएस परीक्षा में 52वीं रैंक हासिल की और SDM बन गए। 12वीं पास करने के बाद पुलिस में कांस्टेबल बन गए थे। श्यामबाबू को  जब डिप्टी एसपी साहब ने चाय लाने के लिए भेजा तो इसी दौरान शयाम बाबू के फोन पर एक मेसेज आया, जिसमें उनके पीसीएस परीक्षा पास होने का परिणाम था। वो पीसीएस परीक्षा पास कर चुके थे। जब श्यामबाबू ने चाय के साथ ये खबर DSP साहब को सुनाई और कहा कि सर में एसडीएम बन गया हूं। तो DSP साहब खड़े हुए और श्यामबाबू को सेल्यूट किया, सीके साथ ही मेज पर रखी चाय भी श्यामबाबू को पिलाई। श्यामबाबू ने कांस्टेबल के पद पर काम करते हुए स्नातक की पढ़ाई पूरी की थी। श्यामबाबू 6 बार के प्रयास के बाद आखिरकार SDM बन गए।

आईजी ने दी शुभकामनाएं 

आईजी नवनीत सेकरा ने ट्विटर पर लिखा, ‘श्याम बाबू को 14 सालों की कड़ी मेहनत के बाद मिली सफलता के लिए बधाई। उन्होंने उत्तर प्रदेश उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग परीक्षा पास की और SDM बने।  हम या तो बहाने ढूंढते हैं या सपनों को साकार करने के लिए मेहनत कर सकते हैं। श्याम बाबू को देश की सेवा के लिए शुभकामनाएं।’


Latest News