vehicle scrappage policy If you buy a car like this, then a new car will be cheaper by one lakh

नई दिल्ली। New vehicle scrappage policy. सरकार की वाहन स्क्रैपेज पॉलिसी पॉलिसी का उद्देश्य अनफिट या पुरानी गाड़ियों को सड़कों से हटाना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को वाहन स्क्रैपेज पॉलिसी लॉन्च की है। इसके जरिए पीएम मोदी ने स्क्रैप पॉलिसी को ‘कचरे से कंचन अभियान’ बताया। इसके बाद वाहनों की नई खरीद और पुराने वाहनों को लेकर काफी बड़ा बदलाव होने वाला है। इससे बाजार में मौजूद कई पुरानी गाड़ियां खत्म हो जाएंगी और नई गाड़ियां खरीदने पर लोगों को काफी फायदा मिलने वाला है। अगर आपके पास कई साल पुरानी गाड़ी है और आप नई गाड़ी लाना चाहते हैं तो आपके पास अच्छा अवसर है। इससे अब नई गाड़ी खरीदने वाले लोगों को काफी फायदा मिलने वाला है।

क्या है ये पॉलिसी?
इस पॉलिसी का उद्देश्य अनफिट या पुरानी गाड़ियों को सड़कों से हटाना है। आसान भाषा मेंकहें तो इस पॉलिसी के जरिए उन लोगों को फायदा दिया जाएगा, जो अपनी पुरानी कार को स्क्रैप में देते हैं यानी कबाड़ में दे देते हैं। इसके जरिए लोगों को प्रेरित किया जाएगा कि वो अपनी पुरानी गाड़ी को स्क्रैप में दे दें।अक्सर होता है कि जब किसी की एक गाड़ी पुरानी हो जाती है तो वो नई गाड़ी खरीदता है, लेकिन अपनी पुरानी गाड़ी को भी अपने पास रखता है। ऐसे में अगर आप पुरानी गाड़ी को स्क्रैप देने के बाद नई गाड़ी खरीदते हैं तो आपको काफी फायदा मिलता है।

नई गाड़ी खरीदने पर क्या फायदा मिलेगा?
नई पॉलिसी के अनुसार, स्क्रैप होने वाले वाहन के बदले उसकी एक्स शोरूम कीमत की 4 से 6 फीसदी राशि वापस मिल जाएगी। वहीं, गाड़ी को स्क्रैप में देने के बाद एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा। अगर आप इस सर्टिफिकेट को दिखाकर नई गाड़ी खरीदते हैं तो आपको नई गाड़ी खरीदने पर काफी फायदा मिलेगा।इस तरह नए वाहन की कीमत पर कुल 15 फीसदी तक फायदा मिल सकता है। बता दें कि देश में निजी वाहन का रजिस्ट्रेशन 15 साल और कमर्शियल वाहन का 10 साल के लिए होता है। इसके बाद वाहन को स्क्रैप करवाया जा सकेगा।

कैसे मिलेगा 15 फीसदी फायदा?
बता दें कि स्क्रैप सर्टिफिकेट और नए वाहन के रजिस्ट्रेशन पर छूट मिलाकर 10 फीसदी तक फायदा हो सकता है। इसके अलावा नए वाहन पर 5 फीसदी डिस्काउंट अलग से दिया जाएगा। इस तरह कीमत पर कुल 15 फीसदी फायदा संभव है. यानी पुरानी गाड़ी स्क्रैप में देने के बाद 10 लाख रुपये की नई गाड़ी खरीदते हैं तो एक लाख रुपये तक फायदा हो सकता है।

कोई स्क्रैप नहीं करवाना चाहे तो?
अगर मान लीजिए आपके पास 10-15 साल से पुरानी गाड़ी है और उसकी स्थिति अच्छी है और आप उसे स्कैप में नहीं देना चाहते तो आपको क्या करना होगा। ऐसे में आपको गाड़ी का एक फिटनेस सर्टिफिकेट लेना होगा और हर साल पांच साल बाद इसे रिन्यू करवाना होगा। यह फिटनेस टेस्ट प्रदूषण, सड़क पर चलने लायक क्षमता, पर्यावरण आदि के आधार पर होगा। साथ ही इसमें गाड़ी के कई पार्ट्स भी जांचे जाएंगे।

यहां भी जरूर पढ़े : Old Coins : अगर आपके पास नहीं है कोई जॉब,तो पुराने सिक्कों को बेचकर खड़ा करें करोड़ों का बिजनेस 

यहां भी जरूर पढ़े : Earn Money: 100 रुपये का ये नोट आपको रातों रात बना देगा लखपति

Recent Posts