Vastu Tips

Vastu Tips: हर व्यक्ति का यह सपना होता है कि उसका बहुत ही शानदार और बड़ा घर हो, इसी के साथ घर में सुख समृद्धि, पॉजिटिव वाइब्रेशन भी हो। मतलब कहने का यह है कि हर व्यक्ति की यही चाहत होती है किसके घर के अंदर जाते हैं सकारात्मक ऊर्जा का संचालन होने लगे। तनाव जैसी भी कोई चीज घर में नहीं होनी चाहिए।

जब भी कोई व्यक्ति घर का निर्माण करवाता है तो पूरी खुशी के साथ बनवाता है। लेकिन कई बार घर में तमाम सुख-सुविधाओं को एकत्रित करने पर भी सुकून की नींद नहीं मिल पाती है। इसी कारण से हर समय तनाव भी रहता है। जिसका एक कारण घर बनाते समय वास्तु शास्त्र के नियमों का पालन ना करना भी हो सकता है। या फिर जाने अनजाने में घर में वास्तु दोष उत्पन्न होना भी इसका एक कारण हो सकता है।

वास्तु शास्त्र की मानें तो अगर घर में किसी प्रकार का कोई वास्तु दोष मौजूद है तो घर के प्रत्येक सदस्य पर उसका नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। बच्चों की पढ़ाई लिखाई से लेकर के हर सदस्य की सेहत और परी और भी कहीं ना कहीं वास्तु पर ही निर्भर होते हैं। इसीलिए आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे जिससे आपके जीवन से निराशा हमेशा के लिए दूर हो जाएगी। तो चलिए जानते हैं टिप्स-

सुखी पूर्ण जीवन जीने के लिए कुछ टिप्स

1. हमें घर का निर्माण करवाने से पहले भूमि पूजा जरूर करवानी चाहिए। इसके बाद किस चीज का कहां पर निर्माण होना है और किन चीजों से शुभ फल की प्राप्ति हो सकती है, उस पर बेहद ध्यान देना चाहिए।

2. हमें कभी भी यह नहीं भूलना चाहिए कि घर बनवाते समय पुरानी लकड़ी, ईट या फिर शीशा जैसे चीजों का प्रयोग नहीं करना चाहिए, यह बहुत ही अशुभ माना जाता है। इससे आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा आ सकती है। इसी के साथ साथ घर के सदस्यों पर इसका गलत प्रभाव पड़ता है। ऐसे कबाड़ो को अपने घर के किसी भी कोने में ना रखें।

3. हमें कभी भी अपना घर तिराहे या चौराहे पर, वीरान जगह, मसलन शहर, या फिर गांव से बाहर किसी शोर-शराबे वाली जगह पर नहीं बनवाना चाहिए। गली या सड़क जहां पर भी खत्म हो जाती है उसके अंतिम प्लॉट पर मकान नहीं होना चाहिए, यह बहुत ही शुभ हो सकता है।

4. घर का मेन गेट हमेशा ईशान, उत्तर,वायव्य और पश्चिम दिशा में से किसी एक दिशा में रखना चाहिए। मुख्य द्वार के सामने कभी भी सीढ़ियां नहीं होनी चाहिए। इसी के साथ साथ अगर संभव हो तो सीढ़ियों के आरंभ और अंत में द्वार अवश्य बनवाना चाहिए।

यह भी पढ़ें-Vastu Tips: कहीं आपने भी तो इस दिशा में नहीं लगा रखा है Money plant? तुरंत ही बदल लें डायरेक्शन वरना हो जाएंगे कंगाल

5. घर में जो भी सीढ़ियां बनवाई जाती है उसके लिए दक्षिण, पश्चिम या दक्षिण पश्चिम दिशा बहुत ही शुभ हो सकती है। सीडीओ को हमेशा क्लॉक वाइज ही बनाना बहुत अच्छा माना जाता है। घर के बीचो-बीच यानी कि ब्रह्मस्थान हमेशा खाली रखना चाहिए।

6. घर के भीतर नकारात्मक ऊर्जा प्रवेश ना करें इसके लिए आप घर के मुख्य द्वार पर अशोक की पत्तियों से बनी एक बंदनवार टांग दे। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपके घर में सुख समृद्धि हमेशा वास करेगी।

7. घर के हर कोने में देवी-देवताओं के चित्र या फिर मूर्ति रखने के बजाय ईशान, उत्तर या पूर्व दिशा में पूजा स्थल बनाए उसी में आपको पूजा करनी चाहिए।

8. घर की छत पर, बालकनी या सीढ़ी के नीचे कभी भी कबाड़ नहीं रखें।

9. अगर आप घर में गाड़ी रखना चाहते हैं तो उसके लिए दक्षिण पूर्व, या फिर उत्तर पश्चिम दिशा बहुत ही शुभ हो सकती है। इसी दिशा में ओवरहेड टैंक भी बनवा सकते हैं।

10. अगर आपके जीवन में नेगेटिविटी बढ़ती ही जा रही है तो आप अपने घर के मुख्य द्वार पर सूरजमुखी के फूल की तस्वीर लगा दे। इससे आपके जीवन में सुख समृद्धि आ जाएगी और घर में पॉजिटिविटी भी रहेगी। इसके साथ साथ घर या बालकनी में कभी भी सूखे पेड़ या फिर पौधे नहीं रखिए। अगर आप ही दे रखते हैं तो आपके घर में नेगेटिव एनर्जी वास करेगी। हरे भरे पेड़ पौधों से आपको घर को सजाना चाहिए इससे आपके घर में हरियाली भी बनी रहेगी और पॉजिटिव एनर्जी भी आएगी।

अगर हम ऐसे कुछ वास्तु नियमों का पालन करते हैं तो हमारे घर में पॉजिटिव एनर्जी का संचार होता है। घर में खुशहाली और समृद्धि आ जाती है। घर के सदस्यों के बीच आपसी प्रेम भी बना रहता है।

Recent Posts

Kanchan Goyal

कंचन गोयल अभी माखनलाल पत्रिकारिता विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री...