Government News: प्रदेश सरकार का बड़ा फैसला! आप सरकारी स्कूलों में मिलेगा इस तरह राशन

Avatar photo

By

Govind

Government News: हरियाणा के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए अच्छी खबर है। जल्द ही उन्हें दिया जाने वाला मध्याह्न भोजन नये बर्तनों में परोसा जायेगा. विभाग ने स्कूलों में विद्यार्थियों की संख्या और मांग के अनुरूप नये बर्तन खरीदने का निर्णय लिया है.

इसके लिए बेसिक शिक्षा निदेशालय ने जिला अधिकारियों से सुझाव भी मांगे हैं। उसी आधार पर बर्तन और रसोई उपकरणों की खरीद के लिए धनराशि जारी की जाएगी।

मध्याह्न भोजन योजना के तहत स्कूलों में रसोई उपकरणों के साथ नये बर्तन खरीदे जायेंगे. इसे लेकर मौलिक शिक्षा महानिदेशक ने जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को पत्र लिखकर धन आवंटन के संबंध में सुझाव मांगे हैं। केंद्र सरकार पांच साल में बर्तन और रसोई उपकरण खरीदने के लिए धनराशि उपलब्ध कराती है।

शासन के निर्देशानुसार विद्यालयों में पंजीकृत छात्र संख्या के आधार पर धनराशि उपलब्ध कराई जाएगी।

प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय की ओर से जिला मौलिक शिक्षा अधिकारियों को एक प्रोफार्मा भेजा गया है।

जिसे दो दिन के अंदर भरकर भेजना होगा। केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित मानदंडों के अनुसार 50 छात्रों की संख्या तक 10,000 रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही 51 से 100 तक छात्रों की संख्या के आधार पर 15 हजार रुपये, 151 से 250 तक 20 हजार रुपये और 251 से ऊपर छात्रों की संख्या के आधार पर 25 हजार रुपये की राशि प्रदान की जाएगी।

जेबीटी शिक्षकों की रिपोर्ट मांगी गई

मौलिक शिक्षा निदेशालय ने लोकसभा चुनाव के दौरान बीएलओ का काम देख रहे 2017 बैच के जेबीटी शिक्षकों की रिपोर्ट मांगी है। जिलेवार रिपोर्ट के आधार पर निदेशालय बीएलओ ड्यूटी देख रहे शिक्षकों को तत्काल रिलीव और ज्वाइनिंग को लेकर छूट दे सकता है।

निदेशालय ने बीएलओ ड्यूटी करने वाले शिक्षकों का ब्योरा प्राथमिकता के आधार पर भेजने के निर्देश दिए हैं। साथ ही स्कूल मुखियाओं को निर्देश दिया गया है कि वे स्थानांतरित शिक्षकों को तुरंत कार्यमुक्त करें और उन्हें ज्वाइनिंग भी दिलाएं।

Govind के बारे में
Avatar photo
Govind नमस्कार मेरा नाम गोविंद है,में रेवाड़ी हरियाणा से हूं, मैं 2024 से Timesbull पर बतौर कंटेंट राइटर के पद पर काम कर रहा हूं,मैं रोजाना सरकारी नौकरी और योजना न्यूज लोगों तक पहुंचाता हूँ. Read More
For Feedback - timesbull@gmail.com
Share.
Open App