नई दिल्ली – ज्यादातर घरों में लोगों को करेले की सब्जी बिल्कुल भी पसंद नहीं होती है। करेले का नाम सुनते ही लोग मुंह सिकुड़ने लगते हैं और इसके जूस को पीने के बारे में तो कोई सोचता भी नहीं है, लेकिन डायबिटीज के मरीजों के लिए करेले का जूस रामबाण इलाज एवं अमृत के समान है। करेला स्वाद में भले ही कड़वा होता है लेकिन इसके बहुत बेहतरीन स्वास्थ्य फायदे होते हैं।

करेले के जूस पीने से पेट में बन रही गैस की समस्या से दूर हो होती है। करेले के सेवन से शरीर में ब्लड शुगर कंट्रोल रहता है, करेले का जूस डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण इलाज है। सुबह के समय करेले के जूस पीने से डायबिटीज बैलेंस रहती है। इसके कड़वे पन के कारण करेले के जूस को ज्यादातर लोग पीना पसंद नहीं करते हैं, लेकिन यह डायबिटीज के रोगियों के लिए महत्वपूर्ण दवाई या अमृत कह सकते हैं। आइए जानते हैं कि करेले के जूस को बनाने की विधि और इसे कड़वा पन दूर करने के क्या नए टिप्स है।

करेले के जूस बनाने के लिए क्या आवश्यक सामग्रियों की आवश्यकता होगी

मीडियम साइज के तीन करेले

एक गिलास पानी

दो चम्मच नमक

एक नींबू का रस

जूस बनाने की विधि

सबसे पहले आप फ्रेश करेले लें, अब इन्हें धोकर इसके छिलके निकालकर अलग कर ले लेकिन आपको बता दें कि करेले के छिलके शुगर पेशेंट के लिए ज्यादा फायदेमंद होते हैं।

धोने के बाद करेले को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर कटोरे में रख लें ऊपर से दो चम्मच नमक डालने और मिक्स करके 2 घंटे के लिए छोड़ दें।

2 घंटे बाद करेले को 5 – 6 बार पानी से रगड़ रगड़ कर अच्छे से साफ धो लें। अब चाकू की मदद से बीज निकालकर अलग रख लें। अब करेले के टुकड़ों को मिक्सर जार में डालें ऊपर से एक गिलास पानी डालकर पीस लें अब नींबू निचोड़ कर  परोसें। जूस का खाली पेट सेवन करें आपके डायबिटीज कंट्रोल में रहेगा।


Latest News