नई दिल्ली। शादी और त्योहार के दिनों में मेहंदी लगाई जाती है ऐसे में हिंदू त्यौहार और दर्म में मेहंदी को साल श्रृंगारों में से एक माना गया है, और इसका बहुत महत्व बताया गया है। मेहंदी एक ऐसी जड़ी बूटी है जिसकी खूबसूरती और खुशबू के बारे में सभी कोई जानते हैं। इसे ना सिर्फ शादी में दूल्हा और दुल्हन के दोनों हाथों में लगाई जाती है बल्कि बहुत से तीज और त्योहारों में महिलाएं मेहंदी लगाई जाती है। मेहंदी लगाने से नसों को शांति मिलती है और सिर दर्द एवं बुखार नहीं होता है। सर्दी के दिनों में शादी का सीजन शुरू हो जाता है, ऐसे में कुछ ऐसे टिप्स है जिससे मेहंदी का रंग काला होगा।

मेहंदी के रंग को काला कैसे करें

मेहंदी के रंग को डार्क करने के लिए आप नीलगिरी के तेल का इस्तेमाल करें, हाथ धोने के बाद एसेंशियल ऑयल को अपने हाथ पर और पैरों पर लगालें, इससे ना सिर्फ अच्छी खुशबू आती है बल्कि तेल से मेहंदी का रंग डार्क होता है।

मेहंदी को अपने हाथ में नेचुरल तरीके से सूखने दें। मेहंदी को सूखने के लिए ब्लो ड्रायर का इस्तेमाल न करें। इसकी हवा डिजाइन को खराब करती है जब मेहंदी नेचुरल तरीके से सूखती है तो रंग काफी अच्छा आता है।

मेहंदी के रंग को गाढ़ा करने के लिए आप शादी शुरू होने के 1 या 2 दिन पहले ही मेहंदी लगा सकते हैं। मेहंदी वाले हाथों में 24 घंटे से पहले पानी ना डालें क्योंकि पानी मेहंदी का उपरी परत धूल जाता है,जिससे मेहंदी का रंग निखरता नहीं है।

मेहंदी को रात भर रकें, हाथों में विक्स लगा सकते हैं या आपके मेहंदी की पूरी तरह सूखने के बाद चीनी और नींबू का रस लगा सकते हैं। बहुत ज्यादा रस नहीं लगाना है।

मेहंदी के रंग को गहरा करने के लिए लौंग का दुआ भी अच्छा माना गया है, इसके लिए आप लोहे की कढ़ाई में लौंग डालें और हाथों को धुएं से सेकें, धुएं की महक से मेहंदी बहुत अच्छी रंगती है। मेहंदी को जितना हो सके अपने हथेली पर रखें हो सके तो पूरी रात रखने पर इसका ज्यादा आता है।

एक बार जब यह सूख जाता है तो आप अपने हाथों को पट्टी कर सकते हैं जिससे मेहंदी के डिजाइन सूखने के बाद बिस्तर पर गिरेगी नहीं और रंग बहुत अच्छा आएगा।


Latest News