नई दिल्ली – जल्द ही सर्दी का मौसम आने वाला है। बहुत से लोगों को सर्दी का मौसम बहुत पसंद है लेकिन तापमान के गिरावट का असर लोगों के इस अच्छे मूड के साथ-साथ सेहत को भी बहुत प्रभावित करता है। इस ठंडे मौसम से लोगों का मूड अच्छा रहता है, लेकिन सेहत से जुड़ी कई परेशानियों का उन्हें सामना करना पड़ता है। बुजुर्ग लोगों के लिए शरद का मौसम बहुत परेशानी दायक रहता है। अक्सर बुजुर्गों के पैरों में और शरीर में दर्द की समस्या बनी रहती है। बदलते मौसम के कारण लोग बीमार होते हैं, क्योंकि तापमान में गिरावट आने से कई सारे वायरस पनपते हैं, जो तेजी से बीमारियां फैलाते हैं। सर्दी के मौसम में गले की खराश एक गंभीर संक्रमण में बदल सकती है। इसके अलावा ठंड के मौसम के कारण आपका शरीर ठंडा हो सकता है और साधारण बीमारी को भी ठीक करना मुश्किल होता है, इसलिए सर्दियों में आप ऐतिहासिक उपचार करें और मौसमी बीमारियों से बचे रहें। आइए जानते हैं कि तापमान गिरने से कौन-कौन सी बीमारी बढ़ सकती है।

यह भी पढ़ें- TVS का ऑफर मचा रहा गदर, दिवाली तक Jupiter की बस 10 हजार रुपये में करें खरीदारी

यह भी पढ़ें-  अगर चाहते हैं कभी न आये सड़क पर, तो मनी प्लांट लगाते वक्त रखें इन बातों का रखें ध्यान

सामान्य सर्दी जुकाम- सर्दी जुकाम एक ऐसी सामान्य बीमारी है जो कि कभी भी आ सकती है। खासकर मौसम के परिवर्तन में यह तेजी से बढ़ता है, ठंडी जलवायु में राइनोवायरस के पनपने का बेहतरीन समय होता है और राइनोवायरस सर्दी जुकाम का सामान्य वायरस है, जो कि सर्दी में लोगों को ज्यादा परेशान करता है। सर्दी होने पर सर्दी जुकाम चार-पांच दिनों तक लोगों को परेशान करता है। अगर इससे ज्यादा आपको परेशान हो रही है, तो आप डॉक्टर को जरूर दिखाएं रोकथाम वायरस के फैलने से रोकने के लिए आम सर्दी के बचाव से बेहतरीन तरीका है।

आपको बार-बार हाथ धोना चाहिए सर्दी जुकाम से ग्रसित लोगों के संपर्क में नहीं आना चाहिए परिवार का कोई सदस्य बीमार हैं तो उससे दूर रहे, घर के अंदर सभी जगह की सफाई करने के लिए कीटाणु नाशक या फिर डेटॉल का इस्तेमाल करें।

जोड़ों में दर्द – सर्दी बढ़ने से जोड़ों में और पैरों में दर्द का समस्या बढ़ जाता है, साथ ही यह मौसम के मरीजों के लिए बहुत दुखदाई हो जाता है। उनका उठना और बैठना भी दूरभर हो जाता है। तापमान के गिरने के कारण जोड़ों का दर्द बढ़ जाता है। सर्दी में ब्लड वेसल्स भी सिकुड़ने लगती है जिसके कारण जोड़ों के आसपास खून का तापमान कम हो जाता है। जिसके कारण जोड़ों में अकड़न और दर्द बनी रहती है। सर्दी में जोड़ों के दर्द से बचने के लिए आप जितना हो सके उतना अपने शरीर को गर्म रखें।

गर्म पानी का सेवन करें धूप से शरीर को सेकें और जोड़ों के दर्द के लिए तेल से मसाज करें, वॉक करें और अपने बॉडी को एक्टिव रखें,

निमोनिया – सर्दी बढ़ने से निमोनिया भी बढ़ सकती है जो कि एक जानलेवा बीमारी में से एक है। यह वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण फेफड़े की छोटी थैली में फैल जाती है। जिससे वे तरल पदार्थ से भर जाते हैं।


Latest News