सैन फ्रांसिस्को, गूगल ने कहा है कि इसने दुनिया के सबसे तेज मशीन लर्निग (एमएल) ट्रेनिंग सुपर कंप्यूटर का निर्माण किया है जिसने इंडस्ट्री के अग्रणी एमएलपर्फ के आठ में से छह बेंचमार्क में एआई परफॉर्मेंस का रिकॉर्ड को तोड़ दिया है। इस सुपर कंप्यूटर के साथ-साथ नवीनतम टेन्सर प्रोसेसिंग यूनिट (टीपीयू) चिप का इस्तेमाल करते हुए गूगल ने नए परफॉर्मेंस रिकॉर्ड बनाया है।

गूगल एआई के नवीन कुमार ने बुधवार को एक बयान में कहा, “हमने टेन्सरफ्लो, जैक्स और लिंग्वो में एमएल मॉडल का इस्तेमाल करते हुए इस नतीजे को हासिल किया है। आठ में से चार मॉडल को तीस सेकेंड के अंदर स्क्रैच से प्रशिक्षित किया गया है।”

इस परिप्रेक्ष्य में साल 2015 में उपलब्ध सबसे उन्नत हार्डवेयर एक्सीलेरेटर पर इनमें से किसी एक मॉडल को प्रशिक्षित करने में तीन हफ्ते से अधिक का वक्त लगा।

गूगल का लेटेस्ट टीपीयू सुपर कंप्यूटर उसी मॉडल को लगभग पांच साल बाद पांच गुना अधिक तीव्रता से प्रशिक्षित कर सकता है।

एमएलपर्फ मॉडल को अत्याधुनिक मशीन लर्निग वर्कलोड के प्रतिनिधि के रूप में चुना जाता है जो कि इंडस्ट्री में आम बात है।

एमएलपर्फ प्रशिक्षण के चरण के लिए गूगल जिस सुपर कंप्यूटर का उपयोग करता है वह क्लाउड टीपीयू वी3 पॉड के मुकाबले चार गुना बड़ा है जिसने पहले तीन रिकॉर्ड बनाए हैं।

ग्राफिक्स के क्षेत्र की बड़ी कंपनी एनवीडिया ने कहा है कि इसने व्यावसायिक रूप से उपलब्ध चिपों में दुनिया की सबसे तेज आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) ट्रेनिंग परफॉर्मेंस को भी उपलब्ध कराया है। एक ऐसी तरकीब जो बड़े उद्यमों को एआई, डेटा साइंस और साइंटिफिक कंप्यूटिंग में सबसे जटिल चुनौतियों से निपटने में मदद करेगा।

एमएलपर्फ बेंचमार्क के मुताबिक, एनवीडिया ए100 जीपीयू और डीजीएक्स सुपरपॉड सिस्टम को एआई प्रशिक्षण के लिए व्यावसायिक रूप से उपलब्ध दुनिया का सबसे तेज प्रोडक्ट घोषित किया गया है।

ए100 टेंसर कोर जीपीयू ने एमएलपर्फ के सभी आठ बेंचमार्क पर काफी अच्छा प्रदर्शन किया।

कंपनी ने एक बयान में कहा, “असली विजेता तो वे कस्टमर्स हैं जो एआई के साथ अपने व्यवसाय को तेजी से व अधिक लागत प्रभावी ढंग से बदलने के लिए इस परफॉर्मेंस को आज अपना रहे हैं।”

ए 100, एनवीडिया एम्पियर आर्किटेक्च र पर आधारित पहला प्रोसेसर है जो किसी भी पिछले एनवीडिया जीपीयू की तुलना में बाजार में अधिक तेजी से अपनी पहचान बनाई है।