Times Bull
News in Hindi

Shiv Khera Quotes and Thoughts in Hindi – शिव खेड़ा के अनमोल विचार

Thoughts in Hindi – अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त प्रोफेशनल स्पीकर और राइटर है। इनका जन्म बिहार के धनबाद तथा कॉलेज की शिक्षा श्रीराम कॉमर्स कॉलेज, दिल्ली से हुई थी। वे प्रख्यात पुस्तक “जीत आपकी” के लेखक हैं।
अपनी युवा अवस्था में इन्होने अमेरिका में कार धोने का, इंश्योरेंस एजेंट का काम किया था। वही पर इन्होने नार्मन विन्सेंट पील का एक लेक्चर सुना था जिससे इंस्पायर होकर ये मोटिवेशनल स्पीकर बने। शिव खेड़ा अमेरिका में “क्वालिफाइड लर्निग सिस्टम इंक” के संस्थापक हैं । यहाँ पर हमने आपके लिए उनके कोट्स का संकलन किया है।

शिव खेड़ा के अनमोल विचार

1 – जीतने वाले अलग चीजें नहीं करते, वो चीजों को अलग तरह से करते है।

2 – सकारात्मक सोच (पॉजिटिव थिंकिंग) के साथ सकारात्मक किर्या (पॉजिटिव एक्शन) का परिणाम सफलता है।

3 – जीतने वाले लाभ देखते हैं, हारने वाले दर्द।

4 – विपरीत परस्थितियों में कुछ लोग टूट जाते हैं , तो कुछ लोग लोग रिकॉर्ड तोड़ते हैं।

5 – अपना एक विज़न रखो। ये अदृश्य को देखने की एक आवश्यक योग्यता है। और यदि आप अदृश्य द्देख सकते है तो आप असंभव भी प्राप्त कर सकते है।

6 – अगर आप सोचते हैं कि आप कर सकते हैं-तो आप कर सकते हैं !अगर आप सोचते हैं कि आप नहीं कर सकते हैं- तो आप नहीं कर सकते हैं ! और किसी भी तरह से …आप सही हैं !

7 – चरित्र का निर्माण तब नहीं शुरू होता जब बच्चा पैदा होता है; ये बच्चे के पैदा होने के सौ साल पहले से शुरू हो जाता है।

8 – सत्य का क्रियान्वन ही न्याय है।

9 – एक देश नारे लगाने से महान नहीं बन जाता।

10 – किसी डिग्री का ना होने दरअसल फायेदेमंद है. अगर आप इंजिनियर या डाक्टर हैं तब आप एक ही काम कर सकते हैं.पर यदि आपके पास कोई डिग्री नहीं है , तो आप कुछ भी कर सकते हैं।

11 – हमारी बिजनेस से सम्बंधित समस्याएं नहीं होतीं , हमारी लोगों से सम्बंधित समस्याएं होती हैं।

12 – अगर हम हल का हिस्सा नहीं हैं, तो हम समस्या हैं।

13 – कभी भी दुष्ट लोगों की सक्रियता समाज को बर्वाद नहीं करती, बल्कि हमेशा अच्छे लोगों की निष्क्रियता समाज को बर्वाद करती है।

14 – जब कभी कोई व्यक्ति कहता है कि वो ये नहीं कर सकता है , तो असल में वो दो चीजें कह रहा होता है. या तो मुझे पता नहीं है कि ये कैसे होगा या मैं इसे करना नहीं चाहता।

15 – इन्स्पीरेशन सोच है जबकि मोटीवेशन कार्रवाई है।

16 – आत्म-सम्मान और अहंकार का उल्टा सम्बन्ध है।

17 – लोग इसकी परवाह नहीं करते हैं कि आप कितना जानते हैं, वो ये जानना चाहते हैं कि आप कितना ख़याल रखते हैं।

18 – अच्छे लीडर्स और लीडर्स बनाने की चेष्ठा करते हैं, बुरे लीडर्स और फालोवार्स बनाने की चेष्ठा करते हैं।

19 – किसी को धोका न दे क्योकि ये आदत बन जाती है और आदत से व्यक्तित्व।

20 – लोगों के साथ विन्रम होना सीखे। महत्त्वपूर्ण होना अच्छा है पर अच्छा होना ज्यादा महत्त्वपूर्ण है।

21 – अपने मित्रों को सावधानी से चुने। हमारे व्यक्तित्व की झलक न सिर्फ हमारी संगत से झलकती है बल्कि, जिन संगतों से हम दूर रहते है उनसे भी झलकती है।

22 – विजेता बोलते है की मुझे कुछ करना चाहिए जबकि हारने वाले बोलते है की कुछ होना चाहिए।

23 – जो भी उधार ले समय पर चुका दे इससे आपकी विश्वनीयता बढ़ती है।

24 – किसी भी प्रॉडक्ट को बेचने के लिए 90 % दृढ़ विश्वास जबकि 10 % अनुनय।

25 – लॉन्ग टर्म इन्वेस्टमेंट में आपको हर दिन के मैनेजमेंट की जरुरत नहीं होती है।

Related posts

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.