Homeभारतसर्दी-खांसी की चपेट में आने से बचना है, तो किचन में मौजूद...

सर्दी-खांसी की चपेट में आने से बचना है, तो किचन में मौजूद इस मसाले का करें सेवन, नहीं पड़ेगी दवाईयों की जरुरत

नई दिल्ली। भारत में सर्दियों का मौसम शुरू हो गया है, सर्दियों के मौसम आते ही मौसम में परिवर्तन हो जाता है। जिसके चलते ज्यादातर 90% लोग सर्दी जुकाम की चपेट में आते हैं। साथ ही मौसम परिवर्तन के चलते इम्युनिटी कमजोर हो जाती है, जिसकी वजह से लोग जल्दी – जल्दी बीमार होने लगते हैं। इसके अलावा बच्चे भी सर्दी जुकाम से परेशान हो जाते हैं। आपको बता दें कि बदलते मौसम के चलते इम्यूनिटी कमजोर हो जाती है और लोग आसानी से बीमार पड़ने लगते हैं।

ऐसे में आप काली मिर्च का इस्तेमाल करके हॉस्पिटल जाने से बच सकती हैं। काली मिर्च एक ऐसी मसाला है, जो सर्दी जुकाम के अलावा आपके रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करती है। साथ ही यह पेट से जुड़े अन्य समस्याओं का भी हल करती है। काली मिर्च के उपयोग से किसी प्रकार का साइड इफेक्ट भी नहीं होता है। ऐसे में आइए जानते हैं कि काली मिर्च का इस्तेमाल कैसे करना है।

अक्सर सर्दी के दिनों में रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने के चलते मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। खासकर बच्चों में कमजोर इम्यूनिटी के चलते बैक्टीरिया और फंगस का खतरा तेजी से बढ़ता है सर्दी खांसी में काली मिर्च का पाउडर और शहद आपके इन दिक्कतों से आपको बचा सकते हैं।

बच्चों को गले में खराश हो रही हो तो आप काली मिर्च का सेवन बच्चों को करा सकते हैं दूध और काली मिर्च को मिलाकर अगर आप सर्दी के दिनों में रोजाना बच्चे को सोने से पहले पिलाकर सुलाती है तो उन्हें सर्दी खांसी की दिक्कत नहीं होगी और उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बूस्ट होगी साथ ही आप एक गिलास दूध में एक चम्मच गाय का घी काली मिर्च पाउडर मिलाकर पिला सकते हैं इससे सर्दी खांसी ठीक होने के अलावा बच्चे का रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगा।

दूध शहद और काली मिर्च इन तीनों का इस्तेमाल अगर सर्दी होने पर करते हैं तो बच्चे को सर्दी जुकाम से राहत मिलेगी साथ ही बच्चा अंदर से मजबूत होगा।

RELATED ARTICLES

Most Popular