राहुल गांधी के करीबी हैं कांग्रेस से इस्तीफा देने वाले अशोक चव्हाण, जानिए पार्टी के किस रवैये से थे नाराज

By

Vipin Kumar

नई दिल्ली: ठीक दो महीने बाद देशभर में लोकसभा चुनाव होना हैं, जिसकी तैयारियां तेजी से चल रही हैं। बीजेपी को केंद्र की सत्ता से हटाने के लिए कांग्रेस सहित तमाम विपक्षी पार्टियां अपने-अपने गठजोड़ बनाने में जुटी हैं। बीजेपी भी केंद्र की सत्ता की हैट्रिक मारने के लिए एड़ी से चोटी तक जोर लगा रहे हैं।


इस बीच महाराष्ट्र में कांग्रेस को एक बड़ा झटका लगा है। महाराष्ट्र में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और यूपी सीएम अशोक चव्हाण ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। चव्हाण बीजेपी से नाराज बताए जा रहे हैं। अब माना जा रहा है कि वे जल्द ही बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। बीजेपी में कब शामिल होंगे इस बात का आधिकारिक तौर पर कोई ऐलान नहीं किया है। अशोक चव्हाण बीजेपी के दिग्गज नेताओं से कई बार मुलाकात कर चुके हैं।

अशोक चव्हाण इस बात से बताए जा रहे नरााज

महाराष्ट्र के पूर्व सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक चव्हाण की तरफ से कांग्रेस से नाराजी की वजह उन्होंने पार्टी नेतृत्व से नाना पटोले को हटाकर खुद को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की पेशकश की थी। कांग्रेस आलाकमान को यह प्रस्ताव मंजबूर नहीं था।

कांग्रेस आलाकमान ने ऐसा नहीं किया, जिससे उन्होंने पार्टी से नाता तोड़ लिया। इस बीच चर्चा है कि कांग्रेस के कई बड़े नेता अशोक चव्हाण के संपर्क में है। इतना ही नहीं माना जा रहा है कि बीजेपी चव्हाण को राज्यसभा भेज सकती है, जो लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा गिफ्ट होगा। चव्हाण का पार्टी से बाहर होना किसी बड़े झटके के रूप में देखा जा रहा है।

विरासत में मली थी राजनिति

महाराष्ट्र 28 अक्टूबर 1958 को जन्मे अशोक चव्हाण को राजनीतिक विरासत उनके पिता शंकरराव चव्हाण से मिल थी। वह भी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। अशोक चव्हाण 8 दिसंबर 2008 से 9 नवंबर 2010 तक महाराष्ट्र के सीएम रहे। उन्होंने महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस समिति के महासचिव के रूप में राजनीति में एंट्री की थी।

वह विलासराव देशमुख सरकार में सांस्कृतिक मामलों, उद्योग, खान और प्रोटोकॉल मंत्री । रहे। वे 2019 में विधायक बने थे। 2 बार सांसद भी रहे। 2015 से 2019 तक महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष की जिम्मेदारी भी निभाई। 1987 में पहली बार लोकसभा के सांसद बने।

जानकारी के लिए बता दें कि अशोक चव्हाण राहुल गांधी के करीबी नेता माने जाते थे। 2019 लोकसभा चुनाव में जब कांग्रेस हारी थी, तब उन्होंने कहा था कि कांग्रेस की हार एक सामूहिक जिम्मेदारी है।

Vipin Kumar के बारे में
For Feedback - [email protected]
Share.


Open App
Join Telegram