नई दिल्ली-शारदीय नवरात्रि का पर्व प्रारंभ हो चुका है नवरात्रि के त्यौहार का अर्थ है, बुराई पर अच्छाई की जीत शारदीय नवरात्रि का यह त्यौहार 26 सितंबर से 5 अक्टूबर तक चलेगा। नवरात्रि का त्यौहार मां दुर्गा को समर्पित है। इस त्यौहार के दौरान 9 दिनों तक मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है साल में कुल 4 बार नवरात्रि का पर्व पड़ता है लेकिन चैत्र और शारदीय नवरात्रि को काफी धूमधाम से मनाया जाता है। बाकी दो गुप्त नवरात्रि है जिन्हें केवल साधु संत और मंदिरों में पूजा अर्चना के साथ गुप्त रूप से मनाया जाता है या जिन भक्तों को इस विषय में पता होता है वे अपने घरों में व्रत अनुष्ठान रखते हैं। नवरात्रि में लोग 9 दिनों तक व्रत रखते हैं ऐसे में आइए जानते हैं कि नवरात्रि के दौरान किस चीज का सेवन करना चाहिए और किसका नहीं।

आटा का अनाज – रेगुलर अनाज गेहूं और चावल का सेवन नवरात्रि में नहीं किया जाता है।

ऐसे में आप कुट्टू के आटा, सिंघाड़े के आटे, राजगीर के आटा का सेवन कर सकती है। साबूदाने की खिचड़ी और वड़े का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

फल-नवरात्रि के व्रत के दौरान फल सेवन कर सकते हैं। लोग केवल फल खा कर भी व्रत रखते हैं और नवरात्रि के दौरान सफेद नमक का सेवन नहीं किया जाता है। इसके बदले सेंधा नमक का ही सेवन किया जाता है।

नवरात्रि के दौरान जीरा, काली मिर्च, हरी इलायची, दालचीनी, अनार के दाने और जायफल का प्रयोग कर सकते हैं।

सब्जी – नवरात्र व्रत के दौरान बहुत से लोग आलू, मीठा आलू, कचालू, जिमी कांदा, नींबू, सीताफल टमाटर, पालक, लौकी, खीरा और गाजर का सेवन करते हैं।

दूध और डेरी प्रोडक्ट में दही, पनीर, सफेद, मक्खन, मलाई, खोया आदि चीजों का व्रत के दौरान सेवन कर सकते हैं।

इन चीजों का नवरात्रि व्रत के दौरान भूलकर भी सेवन नहीं करना चाहिए, प्याज, लहसुन का इस्तेमाल व्रत के दौरान करना बहुत अशुभ माना जाता है। साथ ही दाल, चावल, मकई का आटा, गेहूं का आटा मैदा, सूजी, मांसाहारी, शराब, सिगरेट का सेवन नहीं करना चाहिए। चाय कॉफी का भी सेवन नहीं करना चाहिए। ज्यादातर लोग चाय – कॉफी पीकर व्रत रखते हैं उन्हें इन चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए। बल्कि नारियल पानी ,नींबू पानी पी सकते हैं।


Latest News