Vastu Tips: शादी के बाद आपका बैडरूम कैसा होना चाहिए, जानें इस वास्तु टिप्स में

Avatar photo

By

Sanjay

Vastu Tips: पति-पत्नी का रिश्ता रेशम के धागे की तरह होता है। पति-पत्नी का रिश्ता दुनिया के सबसे मजबूत रिश्तों में से एक माना जाता है। पति-पत्नी का रिश्ता जितना तनाव और कलह से मुक्त रहेगा, उसमें उतनी ही मधुरता और समर्पण की भावना विकसित होगी। विद्वान लोग कहते हैं कि जिस व्यक्ति का दांपत्य जीवन मधुर और सुखी होता है उसे धरती पर ही स्वर्ग की प्राप्ति होती है।

हर शादीशुदा व्यक्ति की चाहत होती है कि उसका वैवाहिक जीवन सुखी रहे। लेकिन कई बार तमाम कोशिशों के बावजूद भी वैवाहिक जीवन में कोई न कोई बाधा या समस्या बनी रहती है। तनाव और कलह कम होने की बजाय बढ़ती ही जा रही है। अगर समय रहते तनाव और मनमुटाव की इस स्थिति का समाधान नहीं किया गया तो पति-पत्नी के रिश्ते में विघटन की स्थिति पैदा हो जाती है। कई बार घर का वास्तु पति-पत्नी के रिश्ते पर भी असर डालता है।

शयनकक्ष की दिशा क्या होनी चाहिए?

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के शयनकक्ष की दिशा का सही होना बहुत जरूरी है। अगर शयनकक्ष की दिशा सही न हो तो इसका वैवाहिक जीवन पर बुरा असर पड़ता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार आपका शयनकक्ष घर की उत्तर-पश्चिम दिशा में बनाना चाहिए। इससे पति-पत्नी के रिश्ते में मधुरता बनी रहती है।

दीवारों के रंग पर ध्यान दें

वास्तु शास्त्र के अनुसार शयनकक्ष की दीवारों के रंग पर भी ध्यान देना चाहिए। शयनकक्ष की दीवारों पर हल्के रंगों का प्रयोग करना चाहिए। इससे तनाव और विवाद की स्थिति नहीं बनती और पति-पत्नी के विचारों में सामंजस्य बना रहता है। इसके साथ ही शयनकक्ष में ताजे फूल रखने से आपसी रिश्ते भी मजबूत होते हैं।

इसके साथ ही पति को बिस्तर के दाईं ओर और पत्नी को बाईं ओर सोना चाहिए। इससे दोनों के बीच प्यार भी बढ़ता है. शयन कक्ष में सफेद बत्तख के जोड़े की तस्वीर लगाना भी शुभ फल देता है, इससे नकारात्मक ऊर्जा का नाश होता है।

Sanjay के बारे में
Avatar photo
Sanjay मेरा नाम संजय महरौलिया है, मैं रेवाड़ी हरियाणा से हूं, मुझे सोशल मीडिया वेबसाइट पर काम करते हुए 3 साल हो गए हैं, अब मैं Timesbull.com के साथ काम कर रहा हूं, मेरा काम ट्रेंडिंग न्यूज लोगों तक पहुंचाना है। Read More
For Feedback - timesbull@gmail.com
Share.
Install App