नई दिल्ली। इस साल 24 अक्टूबर को दीपावली का त्यौहार मनाया जाएगा ऐसे में त्योहारों की रौनक भी बढ़ गई है। इसके अलावा घरों में भी साफ सफाई का माहौल चल रहा है। सभी घरों में पुताई लिपाई और लाइटिंग की तैयारी चल रही है। 23 अक्टूबर को धनतेरस का महापर्व मनाया जाएगा। धनतेरस के अवसर पर महालक्ष्मी भगवती लक्ष्मी एवं धन्वंतरी और कुबेर भगवान की पूजा की जाएगी। इस दिन लोग बड़े पैमाने पर नई चीजें खरीद कर घर लाते हैं और शास्त्रों के मुताबिक नई चीजों का खरीदना बहुत शुभ माना गया है।

धनतेरस के पर्व पर धन्वंतरी जयंती के रूप में भी मनाया जाता है। सभी कोई अपने घर की साफ सफाई इस महा पर्व के लिए करना शुरू कर देते हैं और आपको यह जानना बहुत महत्वपूर्ण है कि आपको किन जगहों को विशेष रूप से साफ करना चाहिए जिससे आपके जीवन की तरक्की और सुख शांति बड़े।

यह भी पढ़ें:-Maruti Ertiga के साथ फैमिली संग करें सफर, आधी से भी कम कीमत पर आपकी होगी नई कार

यह भी पढ़ें:-Hero Splendor Plus को खरीदने के लिए देने होंगे बस इतना, जानें इस दिवाली क्या है ऑफर

ईशान कोण पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ईशान कोण को देवताओं का स्थान कहा गया है । घर के ईशान कोण उत्तर पूर्व दिशा में होता है और इस स्थान पर घर का मंदिर बनाया जाता है। ईशान कोण में मंदिर और रसोई घर को ही बनाया जाता है इसलिए आपको इसकी सफाई विशेष रूप से करना चाहिए।

ब्रमेह स्थान घर के बीच का स्थान ज्यादातर शहरों में बीच के स्थान पर हॉल और गांव में आंगन होता है। ब्रह्म स्थान की सफाई बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक यहां पर देवताओं का वास होता है। इस स्थान को आपको खाली रखना चाहिए। इसके अलावा यहां पर आपको पुराने सामान को इकट्ठा करके नहीं रखना चाहिए। यह जितना खाली रहेगा घर में उतना ही पॉजिटिविटी बढ़ेगा। किसी भी प्रकार की गंदगी आपको ब्रह्म स्थान पर नहीं रखनी चाहिए।

उत्तर दिशा धनतेरस के दिन आपको अपने घर के उत्तर दिशा को भी साफ रखना चाहिए। घर के उत्तर दिशा पर गंदगी होने पर मां भगवती लक्ष्मी घर में वास नहीं करती हैं। ऐसे में इस स्थान को साफ रखना बहुत महत्वपूर्ण है।


Latest News