Times Bull
News in Hindi

इन 10 देशों में मिलती है सबसे ज्यादा सैलेरी

भारतीयों में विदेशा जाने और वहां जाकर खूब का बहुत क्रेज देखा जाता है। लोग सोचते हैं कि विदेशों में भारत से ज्यादा पैसा है, लेकिन हम आपको बता दें कि हर देश में भारत से ज्यादा सैलेरी मिले ऐसा जरूरी नहीं है। विश्व के ऐसे , । यानी कि अगर आप इन 10 में से किसी देश में कमाई करने जा रहे हैं, तो जल्दी ही ज्यादा पैसा जमा कर सकते हैं।

लक्समबर्ग

यह एक बहुत छोटा देश है, लेकिन यह आपको दे सकता है। इस देश की अर्थव्यवस्था बैंकिंग और निवेश पर निर्भर होती है। यहां तक कि ये यूनाइटेड स्टेट में निवेश फंड सेंटर के रूप में जाना जाता है। अमेजन और स्काइप जैसी कई ऑनलाइन कंपनियां लक्समबर्ग से ही दुनिया पर राज कर रही हैं। यहां पर औसत सैलेरी दुनिया में सबसे ज्यादा 61511 डॉलर है।

यूनाइटेड स्टेट

अमेरिका दुनिया का है और यहां की इकोनॉमी भी सबसे ज्यादा मानी जाती है। यहां दुनिया का सबसे बड़ा स्टॉक एक्सचेंज है। ज्यादातर अमेरिकन सप्ताह में केवल 44 घंटे ही काम करते हैं और औसतन 57135 डॉलर कमाते हैं।

स्विट्जरलैंड

यह जगह केवल हनीमून के लिए ही नहीं, बल्कि कमाई करने के लिए भी अच्छी है। यहां पर हेल्थ से संबंधित चीजें और दवाइयां बनाई जाती हैं। साथ ही यहां घडिय़ों का निर्माण भी अधिक मात्रा में किया जाता है। यहां औसत सैलेरी 57082 डॉलर है।

आयरलैंड

यह यूनाइटेड किंगडम का कृषि विभाग माना जाता है। इसकी अर्थव्यवस्थान आयरलैंड के मजबूत प्रौद्योगिकी उद्योग पर निर्भर है। यहां पर संसार की सबसे बड़ी वीडियो गेम कंपनी भी प्रसिद्ध है। इसके अलावा यहां टैक्स और डिडक्शंस सबसे कम है। यहां औसतन सैलेरी 53286 डॉलर है।

नॉर्वे

यहां औसत सैलेरी 51718 डॉलर है। प्राकृतिक स्त्रोतों के लिहाज से नॉर्वे धनी देश माना जाता है। यहां बहुत ज्यादा टैक्स के साथ अच्छी क्वालिटी की हेल्थकेयर सुविधा और उच्च स्तर की शिक्षा प्रदान की जाती है।

ऑस्ट्रेलिया

ऑस्ट्रेलिया बहुत कम मजदूरी रखने के लिए जाना जाता है। यहां संघीय न्यूनतम मजदूरी करीब 17 अमेरिकी डॉलर प्रति घंटा है, बेशक यह दुनिया के किसी भी देश से ज्यादा है। जीडीपी के मामले में ऑस्ट्रेलिया की अर्थ व्यवस्था दुनिया में 12वें स्थान पर है। यहां औसत आय 51148 डॉलर है।

नीदरलैंड

प्रति व्यक्ति जीडीपी के लिहाज से नीदरलैंड दुनिया के सबसे अमीर देशों में से एक है। यह देश डेनमार्क की ही तरह है क्योंकि यहां भी हाई टैक्स चुकाना होता है। इसकी अर्थव्यवस्था अंतरराष्ट्रीय व्यापार पर आधारित है। यहां औसत आय 51003 डॉलर है।

डेनमार्क

यहां की अर्थव्यवस्था मजबूत है और देश की उच्च स्तरीय जीवन शैली में योगदान करती है। यहां औसत आय दर 49589 डॉलर है।

कनाडा

पंजाब हरियाणा के ज्यादातर युवा कनाडा जाते हैं। वजह साफ है यहां होने वाली कमाई। कनाडा आकार और जनसंख्या के मामले में बड़ा देश है। यह तेल के साथ साथ कई प्राकृतिक स्त्रोतों का गढ़ माना जाता है। यहां औसत आय 48164 डॉलर है।

बेल्जियम

यहां भी कर्मचारियों को अच्छा वेतन मिलता है। यहां औसत आय 48093 डॉलर है। यहां की जीडीपी दुनिया की सबसे बड़ी 25वीं जीडीपी मानी जाती है।

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Related posts

रोचक और मजेदार खबरों के लिए अभी डाउनलोड करें Hindi News APP

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Loading...