नई दिल्लीः अक्टूबर का आगाज हो गया है, जो महीना मानसूनी बारिश की विदाई के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण होता है। इस महीने में देशभर से मानसून की विदाई और तापमान में गिरावट का दौर शुरू होता है। कुछ हिस्सों में तो इतना तापमान नीचे चला जाता है कि बर्फ तक जम जाती है, जिससे मैदानी इलाकों में ठंडी हवाओं का अहसास होता है। अब हिंदी पट्टी राज्यों से मानसून लगभग विदाई ले चुका है, लेकिन अभी भी दिल्ली सहित कुछ हिस्सों में बारिश लोगों को भिगो सकती है। इस बीच भारतीय मौसम विभाग(आईएमडी) ने देश के कुछ हिस्सों में बारिश की चेतावनी जारी कर दी है।

  • इन राज्यों में बिगड़ेगा मौसम का मिजाज, होगी भारी बारिश

आईएमडी के मुताबिक, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, दिल्ली और हरियाणा के कुछ इलाकों में 5अक्टूबर से बारिश होने की उम्मीद जताई गई है। वहीं, दक्षिण-पश्चिम मानसून के कारण इस बार सितंबर में देश के उत्तर और उत्तरी-पश्चिमी क्षेत्र में सामान्य से 6 प्रतिशत ज्यादा वर्षा दर्ज की गई। इससे उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में बारिश की कमी को कम करने में सहायता की। आगे उम्मीद जताई जा रही है कि गंगा के मैदानी हिस्सों से मानसून की देर से वापसी रबी सीजन के दौरान किसानों के लिए मददगार साबित होगी।

  • यहां भी होगी बारिश

आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय माहपात्र मुताबिक, बंगाल की खाड़ी के ऊपर पूर्वोत्तर दिशा में बने चक्रवाती परिसंचरण के मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ने की संभावना जताई जा रही है। इससे गंगा के मैदानी क्षेत्र में अच्छी बरसात देखने को मिल सकती है।

आगे उन्होंने कहा कि मानसून की वापसी का दौर 20 सितंबर से शुरू हो जाती है, लेकिन उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के ऊपर मौजूद मौसमी प्रणाली के कारण यह इस बार 13 अक्टूबर तक रुकेगा। यानि मानसून की वापसी 13 अक्टूबर के बाद होगी। वहीं, मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, दिल्ली और हरियाणा के कुछ इलाकों में पांच अक्टूबर से बारिश होने की संभावना उम्मीद जताई है।


Latest News