नई दिल्लीः कोरोना वायरस संक्रमण काल से अब तक केंद्र व राज्य सरकारें लोगों की मदद को आगे आ रही हैं, जिनका मकसद आर्थिक रूप से मजबूत करना है। केंद्र सरकार अभी भी राशन कार्डधारकों पर अभी भी मेहरबान हो रही है। अगर आपक राशन कार्ड बना हुआ है तो फिर यह खबर आपके लिए बड़े ही काम की साबित होने जा रही है। कुछ लोगों ने अपात्र होने के बाद भी राशन कार्डधारक बनवाया हुआ है।

सरकार ने अब अपात्रों की छंटनी का काम शुरू कर दिया है, जिसके चलते माना जा रहा है कि करीब 10 लाख राशन कार्ड निरस्त होने तय माने जा रहे हैं। सरकार जल्द ही अपात्रों पर कार्रवाई के साथ राशन कार्ड कैंसिल करने जा रही है। अभी वैसे आधिकारिक तौर पर तो यह फैसला नहीं लिया गया है, लेकिन मीडिया की रिपोर्ट्स में बड़ा दावा किया जा रहा है।

  • इतने कार्ड होंगे निरस्त

सूत्रों से मिली जानकारी के लिए अनुसार देशभर में करीब 10 लाख लोगों को फर्जी राशनकार्ड बने हुए हैं, जिनपर सरकार सख्त फैसला लेने जा रही है। सरकार द्वारा अपात्रों की जांच करने का काम तेजी से चल रहा है, जिससे लोगों को चिन्हित किया जा रहा है। अब जल्द ही इन लोगों के कार्ड रद्द कर दिए जाएंगे। वसूली को लेकर अभी कोई ऐसा आदेश सरकारी स्तर पर जारी नहीं हुआ है। वैसे मीडिया की रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया जा रहा है।

  • इन लोगों को नहीं मिलेगा राशन कार्ड

सरकारी नियमों के मुताबिक अगर आप करदाता हैं और आपके पास 10 बीघा से ज्यादा जमीन है तो फिर राशन कार्ड अपने रद्द समझ लें। जल्द ही आपका नाम लिस्ट से हटा दिया जाएगा। कई कार्डधारक ऐसे भी हैं जो फ्री राशन लेकर व्यापार करते हैं, इनका भी कार्ड भी रद्द करने का निर्णय लिया जाना है।

जानकारी के लिए बता दें कि देशभर में करीब 80 करोड़ लोगों को राशन का फायदा मिल रहा है। इन एक बड़ी आबादी ऐसे लोगों की भी जो अपात्र हैं, फिर भी राशन कार्ड काक लाभ ले रहे हैं। सरकार अब इन लोगों को लेकर काफी सख्त दिख रही है। माना तो यहां तक भी जा रही है कि राशन कार्ड रद्द होने के साथ-साथ वसूली का काम किया जाना है। सरकार ने वैसे अभी वसूली को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया है।


Latest News