खुशखबरीः आखिर मिल ही गया कोरोना वायरस का इलाज!

Coronavirus Treatment

Coronavirus Treatment : आखिर मिल ही गया कोरोना वायरस का इलाज! चीन ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के अच्छी खबर आयी है। खबर यह है कि कोरोना वायरस का इलाज मिल गया है। यह इलाज भी ढूंढा चीन के चिकिस्ताविज्ञानियों ने ही खोजा है। कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा वुहान में चीन के हेल्थ कमीशन के प्रमुख के मुताबिक कोरोना का इलाज तीन हजार साल पुरानी पारंपरिक चिकित्सा पद्यति से मिला है। इसको टीसीएम यानी ट्रेडिशिनल चाईनीज ट्रीटमेंट कहते हैं। हेल्थ कमिश्नर वांग हेशेंग ने बताया कि जिन मरीजों पर टीसीएम के जरिए किया गया उनमें से आधे से ज्यादा हुवैई के ही हैं। वुहान हुवैई प्रांत की राजधानी है और कोरोना के सबसे ज्यादा मरीज वुहान ही में हैं।

वुहान में शनिवार को मीडिया के सामने वांग ने जानकारी दी कि जिन मरीजों का इलाज टीसीएम से किया गया है, उनसभी के अच्छे परिणाम सामने आये हैं। हालांकि कोरोना से पीड़ित मरीजों के उपचार के लिए कोई भी हर्बल मेडिसिन या ऐलोपैथिक मेडिसिन का ऐलान अधिकारिक तौर पर नहीं किया गया है। कोरोना वायस से अब तक डेढ़ हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि लगभग 70 हजार लोग संक्रमित हो चुके हैं।

कोरोना के इलाज में टीसीएम की सफलता को देखते हुए चीन की शी जिनपिंग सरकार ने ट्रेडिशनल चाईनीज मेडिसिन के 2200 लोगों को वुहान भेजा है। जो संक्रमित लोगों का ट्रीटमेंट ट्रेडिशनल मेडिसिन से कर रहे हैं। एक ओर जहां खुद हुवेई के हेल्थ कमिश्नर ने ट्रेडिशनल मेडिसिन से कोरोना के इलाज की संभावना को व्यक्त किया है वहीं विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेतावनी जारी की है कि कोरोना के संक्रमित मरीजों को अधिकृत चिकित्सा संस्थानों में ले जाने और उपचार करवाया जाये। विश्व स्वास्थ्य संगठन को डर है कि किसी भी अनाधिकृत व्यक्ति या पद्यति से इलाज के चक्कर में कोरोना का संक्रमण भयावह रूप ले सकता है। इसलिए जब तक कोई अधिकृत विश्वसनीय और वैज्ञानिक उपचार सामने नहींं आता है तब तक जो निरोधात्मक उपचार उपलब्ध हैं उन्हीं का उपयोग किया जाना चाहिए।

Notifications    Ok No thanks