News in Hindi

Uidai – अब Aadhar Card नहीं, देनी होगी Aadhar virtual ID

Aadhar virtual ID – आधार नंबर बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश होने पर यूआईडीएआई (भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण) ( Uidai ) ने आधार सुरक्षा की द्विस्तरीय व्यवस्था बनाने का ऐलान किया है। अब जहां जरूरत होगी वर्चुअल आईडी दी जाएगी। इसमें आधार नंबर के बजाय क्रिप्टिक बारकोड का उपयोग होगा जिससे पहचान संख्या सुरक्षित रहेगी। इसके साथ ही केवाईसी सुविधा को भी सीमित किया जाएगा। इसके लिए उन एजेंसियों के लिए यूआईडीएआई टोकन जारी होगा जिन्हें आधार लेने के लिए अधिकृत किया गया है।

होंगे 16 नंबर की आधार वर्चुअल आईडी

16 नंबर की अस्थायी आईडी जो आधार नंबर से बनेगी। इससे किसी का आधार नंबर नहीं निकाला जा सकेगा। आईडी का आखिरी नंबर आधार संख्या के मुताबिक होगा।
खास बात वर्चुअल आईडी की नकल नहीं की जा सकेगी क्योंकि इसे सिर्फ आधार कार्ड धारक ही हासिल कर सकेगा।

लिमिटेड केवाईसी के बाद एजेंसियां आधार नंबर स्टोर नहीं कर सकेंगी। केवाईसी के लिए आधार की जरूरत कम होने पर उन एजेंसियों की संख्या घटेगी जिनके पास आपके आधार की डिटेल होगी।

 Aadhar card virtual id kya hai

आरबीआई ने जताई चिंता

रिजर्व बैंक ने हाल ही एक रिसर्च नोट में आधार को लेकर गंभीर चिंता जाहिर की थी। इसके मुताबिक आधार डेटा चोरी रोकना आने वाले समय में सबसे बड़ी चुनौती होगी। आधार डेटा के संभावित व्यवसायिक दुरुपयोग से बड़ी चिंता इसके आसानी से लीक होने की है।

कैसे बनेगी आधार वर्चुअल आईडी ( Aadhar card virtual id )

आधार धारक यूआईडीएआई वेबसाइट से आईडी बना सकेंगे। जब इसे बदलना चाहें वेबसाइट से बदल सकेंगे। नई आईडी जारी होने पर पुरानी आईडी रद्द हो जाएगी।

कब से सुविधा

वर्चुअल आईडी जारी करने की सुविधा एक मार्च से शुरू हो जाएगी लेकिन एजेंसियों को इसे अपनाने के लिए एक जून तक का समय दिया जाएगा।