Times Bull
News in Hindi

फिदेल कास्त्रो के थे 35,000 महिलाओं के साथ संबंध, जानिए इनसे जुड़े इंटरेस्टिंग फैक्ट्स

Facts About Fidel Castro: क्यूब के पूर्व राष्ट्रपति फिदेल कास्त्रो का 90 साल की उम्र में निधन हो गया। 1959 में क्रांति के जरिए अमेरिकी पिट्ठू फुल्गेंकियो बतिस्ता की तानाशही को उखाड़ फेंक वो सत्ता में आए थे। उन्हें कम्युनिस्ट क्यूबा का जनक माना जाता था। इनके जिंदगी के कई किस्से मशहूर रहे। उन पर बनी एक डॉक्युमेंट्री में खुलासा किया गया था कि कास्त्रो ने 82 साल की उम्र तक 35,000 महिलाओं के साथ संबंध बनाए। कास्त्रो ने ये दावा भी किया था कि 634 बार उनकी मौत की साजिश रची गई।

क्रांति से पहले फिदेल कास्त्रो एक युवा वकील थे, जिन्हें कम लोग जानते थे। उनका जन्म 1926 में क्यूबा के फिदेल अलेजांद्रो कास्त्रो परिवार में हुआ था जो काफ़ी समृद्ध माना जाता था। क्रांति से पहले वह तानाशाह के खिलाफ 1952 के चुनाव में खड़े हुए। लेकिन इससे पहले लोग वोट कर पाते, वोटिंग खत्म कर दी गई। जनक्रांति शुरू करने के इरादे से 26 जुलाई को फिदेल कास्त्रो ने अपने 100 साथियों के साथ सैंटियागो डी क्यूबा में सैनिक बैरक पर हमला किया, लेकिन नाकाम रहे। इस हमले के बाद फिदेल कास्त्रो और उनके भाई राउल बच तो गए, लेकिन अन्य लोगों को जेल में डाल दिया गया।

फिदेल कास्त्रो ने बतिस्ता शासन के खिलाफ अभियान बंद नहीं किया। यह अभियान उन्होंने मैक्सिको में निर्वासित जीवन जीते हुए चलाया। वहां उन्होंने एक छापामार संगठन बनाया। इसे ’26 जुलाई मूवमेंट’ नाम दिया गया। कास्त्रो के क्रांतिकारी आदर्शों को क्यूबा में काफी समर्थन मिला। 1959 में उनके संगठन ने बतिस्ता शासन का तख्तापलट दिया और प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति बने। आइए जानते है क्यूबा के क्रांतिकारी नेता फिदेल कास्त्रो से जुड़े 8 इंस्ट्रेस्टिंग फैक्ट्स…

35,000 महिलाओं से रहे संबंध
क्यूबा के क्रांतिकारी नेता फिदेल कास्त्रो ने 82 साल की उम्र तक 35,000 महिलाओं के साथ संबंध बनाए। इस बात का दावा उन पर बनी एक डॉक्युमेंट्री में किया गया है। न्ययॉर्क पोस्ट ने कास्त्रो के पूर्व अधिकारी के हवाले से कहा था कि वो रोजाना दिन में करीब दो महिलाओं के साथ संबंध बनाते थे। ये सिलसिला चार दशकों से भी ज्यादा समय तक चला।

634 बार हत्या की कोशिश
कास्त्रो का दावा था कि 634 बार उनकी मौत की साजिश रची गई। ये साजिश मुख्य रूप से अमेरिकी सेंट्रल इंटेलिजेंस एजेंसी के द्वारा रची गई थी। उनकी जान लेने के लिए उन पर जहरीली दवाओं, जहरीली सिगार, विस्फोटक और जहरीले पाउडर से लेकर तमाम तरह की चीजों का इस्तेमाल किया गया।

लंबे समय तक किया राज
फिदेल कास्त्रो ब्रिटेन की महारानी और थाईलैंड के राजा के बाद दुनिया के तीसरे ऐसे राष्ट्राध्यक्ष थे, जिसने सबसे लंबे समय तक राज किया। वे 1959 से 1976 तक प्रधानमंत्री और 1976 से 2008 तक राष्ट्रपति बने रहे। बीमारी ने जब फिदेल को मजबूर कर दिया और वो काम करने की स्थिति में नहीं रहे, तब जुलाई 2008 में उन्होंने अपने भाई के हाथ देश की सत्ता सौंपी।

सबसे लंबा भाषण देने का रिकॉर्ड
फिदेल कास्त्रो के नाम एक गिनीज बुक रिकॉर्ड भी दर्ज है। ये रिकॉर्ड उन्होंने भाषण देकर बनाया था। 29 सितंबर 1960 में उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में 4 घंटे, 29 मिनट का भाषण दिया था। उनका 7 घंटे 10 मिनट का सबसे लंबा भाषण क्यूबा में 1986 में रिकॉर्ड किया गया था। ये भाषण उन्होंने हवाना में कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस के कार्यक्रम में दिया था।

नौ अमेरिकी राष्ट्रपतियों से लंबा राज
सीआईए की हत्या की साजिश, अमेरिका समर्थित निर्वासन, 45 साल से भी ज्यादा के आर्थिक प्रतिबंध और कहीं आने-जाने की पाबंदियों का सामना करने के बावजूद फिदेल कास्त्रो ने 9 अमेरिकी राष्ट्रपतियों से लंबे समय तक देश पर राज किया। क्यूबा और कास्त्रो को सबसे सख्तियों का सामना जॉर्ज डब्ल्यू बुश के कार्यकाल में करना पड़ा था।

कास्त्रो का परिवार
कास्त्रो के 8 बच्चे हैं। उनका बड़ा बेटा फिदेल कास्त्रो डियाज बलार्ट को उनके पिता की झलक माना जाता है। वो फिदेलितो के नाम से मशहूर हैं और न्यूक्लियर साइंटिस्ट हैं। हवाना की सोशलाइट से हुई उनकी बेटी एलिना फर्नांडिस ने अपने मियामी रेडियो प्रोग्राम में खुद कास्त्रो की आलोचना की थी। कास्त्रो की दूसरी पत्नी डालिया सोटो से पांच और बेटे हैं। उन सभी के नाम ए से शुरू होते हैं। छोटा बेटा एंटोनियो नेशनल बेसबॉल टीम का डॉक्टर है।

कास्त्रो की गाय के भी रिकॉर्ड
कास्त्रो के पेट्स में उनकी गाय के नाम भी रिकॉर्ड हैं। कास्त्रो की गाय उब्रे ब्लांसा के नाम सबसे ज्यादा दूध देने का रिकॉर्ड है। ब्लांसा के नाम गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में एक दिन में 110 लीटर दूध देने का रिकॉर्ड दर्ज है।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Leave A Reply

Your email address will not be published.