Times Bull
News in Hindi

लापरवाही से मौत: परिजनों को तीन लाख रुपये मुआवजा भरेगा एम्स

डेढ़ साल पहले डेंगू से पीड़‍ित होकर एम्‍स में भर्ती हुआ था युवक
आमतौर पर हम देश के अलग-अलग हिस्‍सों में अस्‍पतालों में लापरवाही से इलाज किए जाने के कारण मरीजों की मौत की खबर सुनते रहते हैं मगर देश के सबसे प्रतिष्ठित सरकारी अस्‍पताल माने जाने वाले दिल्‍ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान यानी एम्‍स में ऐसा वाकया कम ही सुनाई देता है। मगर अपवाद हर जगह होते ही हैं। वर्ष 2016 के ऐसे ही एक मामले में एम्‍स एक मरीज के परिवार को 3 लाख रुपये का मुआवजा देगा।क्‍या है मामला दरअसल अगस्‍त 2016 में भरत अगारिया नामक एक 20 वर्षीय युवक को डेंगू से पीडि़त होने पर एम्‍स में भर्ती कराया गया था। भरत के पिता इसी अस्‍पताल में काम करते हैं।

भरत की इलाज के दौरान आईसीयू में मौत हो गई थी। युवक के परिजनों ने आरोप लगाया था कि डॉक्‍टरों ने भरत के इलाज में लापरवाही बरती।मानवाधिकार आयोग में शिकायत इस आशय की शिकायत मानवाधिकार आयोग में दी गई थी। आयोग ने इस संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव को नोटिस भेजकर चार हफ्तों में रिपोर्ट मांगी थी। इसके बाद मंत्रालय ने इस मामले की जांच के लिए समिति गठित की और समिति ने संबंधित डाक्टरों को चिकित्सकीय लापरवाही का दोषी पाया था। आयोग ने सिफारिश की कि एम्‍स प्रशासन भरत के परिवार को तीन लाख रुपये मुआवजा दे जिसे एम्‍स प्रशासन ने मान लिया है। मंत्रालय की तरफ से इस आशय की जानकारी आयोग को दी गई है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.