यह है विश्व का सबसे बड़ा विमान, पंखों पर खेला जा सकता है फुटबॉल

साइंस और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में रोजाना नए नए आविष्कार हो रहे हैं। आए दिन कोई न कोई नई तकनीक दुनिया को चौंका रही है। अंतरिक्ष क्षेत्र में भी अब तक कई बड़े इनोवेशंस हो चुके हैं। हालांकि इस क्षेत्र की दिग्गज कंपनियों को टक्कर देने के लिए अब माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक पॉल एलन ने दुनिया का सबसे बड़ा विमान पेश किया है। यह विमान उनकी एरोस्पेस कंपनी स्टै्रटोलॉन्च सिस्टम्स ने बनाया है।

इस विमान का नाम रॉक रखा गया है और इसके पंख इतने बड़े हैं कि इन पर फुटबॉल का मैदान बनाया जा सकता है। वैसे आपको बता दें कि यह विमान यात्रियों को एक जगह से दूसरी नहीं लेकर जाएगा, बल्कि यह विमान अंतरिक्ष में सैटेलाइट लॉन्च करने का काम करेगा। हाल ही इसे कैलिफोर्निया स्थित मोजावे में बने कंपनी के हैंगर से बाहर लाया गया। बाहर आते ही यह सुर्खियां बन गया।

विमान को हैंगर से बाहर लाने के लिए ही 28 पहिए लगाने पड़े। 2019 तक इसका डेमो शुरू हो जाएगा। इस विमान में छह इंजन लगे हैं और यह होवार्ड ह्यूजेज 1947 एच-4 हरक्यूलिस व मौजूदा समय के दुनिया के सबसे बड़े विमान के रूप में जाने जाने वाले कार्गो विमान एन्टोनोव एएन-225 से भी बड़ा है। स्टै्रटोलॉन्च पिछले साल ही अमेरिकी एरोस्पेस कंपनी ऑर्बिटल एटीके के साथ साझेदारी कर चुकी है। संभवत: इस विमान से ऑर्बिटल के पेगसस एक्सएल रॉकेट को लॉन्च किया जाएगा इससे कई छोटे उपग्रहों को अंतरिक्ष में भेजा जाएगा।

आम विमानों की ही तरह यह विमान भी 35000 फीट की ऊंचाई पर यात्रा कर सकता है। इसे छोटे उपग्रह ले जाने के लिए बनाया गया है। यह विमान रॉकेट को हवा में ले जाएगा और तय ऊंचाई से रॉकेट को अंतरिक्ष में लॉन्च करेगा। यह एक एयरबॉन रॉकेट लॉन्चर की तरह काम करेगा।

यह है खासियत

– विमान के पंख इतने बड़े हैं कि इन पर बन सकता है पूरा फुटबॉल ग्राउंड
– छह इंजन, दो कॉकपिट
– 385 फीट तक फैले पंख
– 50 फीट ऊंचाई
– 850 किमी प्रति घंटा रफ्तार
– 5 लाख पाउंड वजन
– अधिकतम भार 13 लाख पाउंड
– ढाई लाख पाउंड ईंधन ले जाने में सक्षम

Leave A Reply

Your email address will not be published.