Browsing Tag

How to worship shiva

भगवान शंकर को प्रिय है प्रदोष व्रत, देता है यश, वैभव और सम्पन्नता

प्रदोष व्रत पूर्व  तिथि के संयोग से मनाया जाता है। यानी द्वादशी तिथि से संयुक्त त्रयोदशी तिथि को यह व्रत आचरित किया जाता है। पक्ष भेद होने के कारण इसे शुक्ल या कृष्ण प्रदोष व्रत कहा जाता है। भगवान शिव को यह व्रत परम प्रिय है इसलिये इस…

दुखों के नाश के लिए ऐसे करें द्वादश ज्योतिर्लिंग का स्मरण

शिव महापुराण के कोटि रूद्र संहिता के अन्तर्गत महाशिव के ज्योतिर्लिंग के बारह स्वरूपों का उल्लेख किया गया है, जिन्हें सुनने मात्र से पाप दूर हो जाते हैं।

शिव की पूजा में ध्यान रखें ये 3 बातें तो शिव देंगे मनचाहा आशीर्वाद

भगवान भोलेनाथ एक ऐसे देवता है जो सहज ही प्रसन्न हो जाते हैं। फिर भी कुछ बातों का ध्यान रखा जाएं तो वे अपने भक्त को मनचाहा वरदान देने में देर नहीं करते। आइए जाने ऐसी ही कुछ बातें...

जानिए आखिर क्यों है पवित्र शंख भगवान शिव की पूजा में वर्जित

देवों के देव महादेव भगवान शिव सभी वीद्याओं के जनक माने जाते हैं। हिंदू धर्म में हर देवी-देवता के पूजन और प्रसाद संबंधी कुछ विशेष नियम हैं। आपने पढ़ा होगा कि भगवान कृष्ण को दही का भोग पसंद है लेकिन मां संतोषी को खटाई के पदार्थ चढ़ाने वर्जित…

भगवान शंकर जी को प्रिय है प्रदोष व्रत, देता है यश, वैभव और सम्पन्नता

पुराणों के अनुसार प्रदोष व्रत सुख संपदा युक्त जीवन शैली के अलावा हमें यश, कीर्ति, ख्याति, वैभव तथा सम्पन्नता देने में समर्थ होता है । व्रतराज नामक ग्रन्थ में सूर्यास्त से तीन घटी पूर्व के समय को प्रदोष का समय माना गया है। अर्थात् सूर्यास्त…

इस तरह करें शिव की उपासना, मिलेगी कष्टों से मुक्ति

भगवान शिव शीघ्र प्रसन्न होने वाले देवता माने जाते है। शिव भगवान को काल का भी काल अर्थात महाकाल कहा जाता है वे, कण-कण में समाए हुए हैं। भगवान शिव सभी भक्तों की मनोकामना पूरी करते है। अपने संकटों से निजात पाने लिए बस आस्था और विश्वास की जरूरत…