Browsing Tag

amavasya bholenath

भगवान शंकर को प्रिय है प्रदोष व्रत, देता है यश, वैभव और सम्पन्नता

प्रदोष व्रत पूर्व  तिथि के संयोग से मनाया जाता है। यानी द्वादशी तिथि से संयुक्त त्रयोदशी तिथि को यह व्रत आचरित किया जाता है। पक्ष भेद होने के कारण इसे शुक्ल या कृष्ण प्रदोष व्रत कहा जाता है। भगवान शिव को यह व्रत परम प्रिय है इसलिये इस…

भगवान शंकर जी को प्रिय है प्रदोष व्रत, देता है यश, वैभव और सम्पन्नता

पुराणों के अनुसार प्रदोष व्रत सुख संपदा युक्त जीवन शैली के अलावा हमें यश, कीर्ति, ख्याति, वैभव तथा सम्पन्नता देने में समर्थ होता है । व्रतराज नामक ग्रन्थ में सूर्यास्त से तीन घटी पूर्व के समय को प्रदोष का समय माना गया है। अर्थात् सूर्यास्त…