Times Bull
News in Hindi

BCCI की आंखों में क्यों चुभती है क्रिकेटर्स की ग्लैमरस पत्नी और गर्लफ्रैंड

नई दिल्ली। श्रीलंका दौरे पर भारतीय क्रिकेटर अपने साथ पत्नी और गर्लफ्रैंड को नहीं ले जा पाएंगे। बीसीसीआई ने इसके पीछे तर्क दिया है कि खिलाड़ी पिछले एक महीने से आराम कर रहे हैं और इसके चलते उन्हें दौरे पर पार्टनर की जरूरत नहीं है। बीवियों और गर्लफ्रैंड्स का खिलाडियों के साथ दौरे पर जाना विवादित रहा है। साथ ही बीसीसीआई का रूख भी इस मुद्दे पर अस्पष्ट सा ही रहा है। कभी भारतीय क्रिकेट बोर्ड खिलाडियों को बीवी व गर्लफ्रैंड को साथ ले जाने की अनुमति दे देता है तो भी ना कर देता है। कारण हमेशा उसके अपने होते हैं। यह मामला भारतीय टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली के बॉलीवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्मा से अफे यर सामने आने के बाद हुआ है। जानिए कैसे अनुष्का-विराट के कारण हुआ विवाद

भारतीय क्रिकेट बोर्ड पहले विदेशी दौरों पर क्रिकेटर्स के साथ पत्नी व गर्लफ्रैंड को नहीं भेजता था। पिछले साल इंग्लैण्ड दौरे पर बोर्ड ने पत्नियों के साथ ही गर्लफ्रैंड को भी विदेशी ट्यूर पर जाने की अनुमति दी। इसके तहत महेन्द्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी धोनी, चेतेश्वर पुजारा की पत्नी पूजा, मुरली विजय की पत्नी और अन्य खिलाडियों की बीवियां इंग्लैण्ड दौरे पर गई और अपने जीवनसाथी का मनोबल बढ़ाया। लेकिन विवाद तब हुआ जब सामने आया कि बोर्ड ने अनुष्का शर्मा को भी जाने की अनुमति दी है। अनुष्का शर्मा और विराट कोहली डेट कर रहे थे लेकिन दोनों ने अपने रिश्ते को छुपाया। इंग्लैण्ड दौरे पर दोनों का रिश्ता सामने आ गया। बीसीसीआई ने भी अनुष्का के जाने के लिए नियम को परे रखते हुए तर्क दिया कि दोनों की शादी होने वाली है। इस दौरे पर कोहली बुरी तरह फ्लॉप रहे और अनुष्का को उनके साथ रहने देने की खासी आलोचना हुई।

कई पूर्व खिलाडियों ने इस फैसले का समर्थन किया लेकिन बीसीसीआई ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर संभलकर कदम रखा। चार महीने के ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए बीसीसीआई ने श्रृंखला के मध्य में पत्नी व गर्लफ्रैंड के जाने को हरी झंडी दी। हालांकि उसने साफ किया कि वर्ल्ड कप के दौरान खिलाडियों को ऎसी अनुमति नहीं मिलेगी। लेकिन टीम इंडिया के नॉकआउट राउंड में पहुंचने के बाद बीसीसीआई की अकड़ ढीली पड़ गई। उसने खिलाडियों को अपने पार्टनर से मिलने की अनुमति दे दी। दुर्भाग्यवश भारतीय टीम सेमीफाइनल से बाहर हो गई और इस मैच में विराट कोहली फ्लॉप रहे, इसका ठीकरा अनुष्का पर फोड़ा गया। हालांकि अन्य देशों में ऎसे हाल नहीं है।

इंग्लैण्ड, न्यूजीलैण्ड, ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बोर्ड अपनी टीमों के विदेशी दौरों पर पत्नी व गर्लफ्रैंड को साथ ले जाने की अनुमति देते हैं। वहां ऎसी कोई बंदिश नहीं है और साथ ही खिलाडियों के खराब प्रदर्शन के लिए भी उनके जीवनसाथी को जिम्मेदार नहीं माना जाता। क्रिकेट के अलावा अन्य खेल जैसे फुटबॉल और टेनिस में तो पत्नी व गर्लफ्रैंड अपने साथी के साथ सफर करती है। फुटबॉल में यह बेहद मामूली बात है और यहां पर खिलाडियों की पार्टनर उन्हें चीयर करती नजर आती रहती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.